पहले बसाया अब उजाड़ने की तैयारी

26 Feb 2019 6:36 PM GMT

फॉरेस्ट वालों के कारनामें से रोज़ी रोटी पर खतरा, नेपाल बार्डर से सटे यूपी के लखीमपुर खीरी जिले गांव चन्दन चौकी की मण्डी के दुकानदारों को फॉरेस्ट विभाग ने गुजरे दिनों नोटिस देकर कहा कि वन विभाग की जमीन पर किये गये कब्ज़े खाली करें, इससे दुकानदारों मे हड़कम्प मच गया।

दरअसल लगभग तीस साल पहले जब यहां रेल का आवागवन था तब चन्दन चौकी के दो चार लोगो ने स्टेशन के बाहर फॉरेस्ट की ज़मीन पर खोखे रखकर चाय बीड़ी सिगरेट बेचना शुरू कर दिये थे, क्योंकि इस रास्ते से नेपाल के कुछ गांवों के लोग आते जाते थे, इसलिए दुकानदारों का धंधा ठीकठाक चलने लगा, इनको देखकर बरेली, सीतापुर, लखीमपुर, वगैराह ज़िलों से सैकड़ों लोगों ने खोखे लगाकर पैसा कमाना शुरू कर दिया, जैसे जैसे इनका कारोबार बढ़ा वैसे वैसे इनको ज्यादा जगह की ज़रूरत पड़ी और ज़्यादा जगह पर पक्की दुकाने बनाली गई।

हालांकि लगभग तीन दशक पहले वन विभाग ने ही चन्दन चौकी के कुछ भूमिविहीन लोगों को खोखे रखकर जीविका कमाने की दावत दी थी।

दरअसल यह इलाका पूरी तरह से साधन विहीन था अतः वन विभाग की मंशा इस इलाके के गरीब तबके को जीविका का साधन मुहय्या कराना था।

लेकिन बाहरी कारोबारियों के जमने के बाद यह एक बड़ी व्यापारिक मण्डी में तबदील हो गयी, और इलाके के गरीब तबका तो वहीं रह गया बाहरी कारोबारियों का खासा विकास हो रहा है।

बताया जा रहा है कि वन विभाग ने दुकानदारों को नोटिस देकर सरकारी जगह से कब्जे हटाने को कहा है।

आईये देखते है दुकानदारों से उनकी बात हमारे सहयोगी संदीप शर्मा के साथ।

  Similar Posts

Share it
Top