अब पंजाब में बदलाखोरी की नहीं, बल्कि विकास की राजनीति होगी

2017-03-26 07:45:42.0

पंजाब के केबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू आज अपने विधानसभा क्षेत्र के लोगों का धन्यवाद करने के लिए मूदल गांव पहुंचे और इस दौरान उन्होंने लोगों का जहां धन्यवाद किया, वहीं लोगों से यह भी कहा कि अब पंजाब में बदलाखोरी की नहीं, बल्कि विकास की राजनीति होगी। पंजाब के चहूमुखी विकास के लिए खाका तैयार किया जा रहा है और जल्द ही सभी विकास कार्य शुरू कर उन्हें पूरा भी कराया जाएगा। इतना ही नहीं, इस मौके पर उन्होंने दावा किया कि पंजाब के सभी नगर निगमों को पैरों पर खड़ा करने के लिए अधिक अधिकार देने के साथ-साथ भ्रष्टाचार मुक्त भी कराया जाएगा। नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जो भी विकास कार्य कराए जाएंगे, उनका सही तरीके से नीरिक्षण भी किया जाएगा, ताकि जिस सड़क की मियाद तीन साल है, तो वह तीन साल तक टिकी रहे। इसके अलावा उन्होंने कहा कि पंजाब में इस समय कई तरह का माफिया चल रहा है, जिसे खत्म करने के लिए कैप्टन सरकार ने आदेश जारी किए है और जल्द ही पंजाब को माफिया राज से मुक्त करा दिया जाएगा। निजी स्कूलों की मनमानी के बारे में सिद्धू ने कहा कि उन्हें भी कई लोग मिलते हैं और इस संबंधी शिकायतें देते हैं। चूंकि यह मामला उनके विभाग का नहीं है, लेकिन वह इस संबंध में अरुणा चैधरी से मिलकर न सिर्फ निजी स्कूलों पर नकेल कसने के लिए ठोस योजना बनाने की मांग करेंगे, बल्कि सरकारी स्कूलों की शिक्षा का स्तर भी निजी स्कूलों की तरह बनाने के लिए कहेंगे। नवजोत सिद्धू ने कहा कि उनका पूरा समय लोगों के लिए हैं और वह कोशिश करेंगे कि पंजाब वासियों को अधिक से अधिक समय दे। इस दौरान यदि वह किसी कारणवश उपलब्ध नहीं होते हैं, तो उनकी पत्नी डा. नवजोत कौर लोगों की सेवा के लिए अपने कार्यालय में मौजूद रहेगी।

कहते हैं कि जिसकी आदत उसके दम के साथ ही रहती है, यह कहावत आज उ0प्र0 के जालौन में चरित्रार्थ होती दिखी। दरअसल आज परिवहन मंत्री का जालौन आने का अचानक प्लान बनते ही वर्षो से सोये हुये आरटीओ जागे और हाइवे पर नजर आये और कुछ ही घण्टो में मोरम भरे 22 ट्रकों के चालान कर दियऔर 7 ट्रक सीज किये जब सीज किये हुये ट्रक वालो से पूछा कि चालान क्यों किया तो ट्रक मालिक बन्टी व् महेंद्र ने जानकारी दी कि सभी कागज पूरे थे फिर भी आरटीओ साहब ने खड़ी गाड़ी का चालान कर दिया जो गाड़ी वाले रुपये दे रहे उन्हें छोड़ रहे हैं जो रुपये नही दे रहे उन्हें नही छोड़ रहे हैं जिससे पता चलता हैं कि जिला में कितने अवैध काम चल रहे हैं। आपको बतादें कि आरटीओ की यह कारगुजारी भी सिर्फ ट्रकों तक ही सीमित रही इसकी जद में जिले भर में धड़लले से चलवाये जा रहे डग्गामार टैम्पों जीपे आदि नही आई।

  Similar Posts

Share it
Top