सीएम ने कर लिया बन्द कमरे में से ही पूरे मण्डल का दीदार

2017-05-21 10:45:39.0

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून व्यवस्था और विकास कार्यों की समीक्षा के नाम पर आज पहली बार बतौर सीएम बरेली पहुंचे। बन्द कमरे में पूरे मण्डल को देख लिया, सर्किट हाउस पहुंचकर पहले तो भाजपाईयों से मुलाकात की। इसके बाद विकास भवन के एक बन्द कमरे में अफसरान के चश्में में से पूरे मंडल आपकी स्क्रीन पर दिख रहे विकास का दीदार किया। सीएम को दिखाने के लिए तीन दिन में पचासों करोड़ रूपये फूंके गये। योगी आदित्यनाथ के बरेली पहुंचने से आधा घ्ण्टा पहले से वापिस जाने तक यहां आपात काल जैसी स्थिति दिखाई दी, परेशान गुलाम जनता को मुख्यमंत्री को सीएम के करीब जाने देना तो दूर सीएम की गुजरगाहों तक पर फटकने नहीं दिया गया, पुरे रास्तों को गुलाम वोटरों के लिए वर्जित कर दिया गया। जिस-जिस स्थान पर मुख्यमंत्री को आना था वहां अघोषित कर्फ्यू जैसी स्थिति बनादी गयी। मीडियाकर्मियों को मुखयमंत्री की कवरेज तक से रोका गया।. मीडिया कर्मियों को चमचागीरी करने के इनाम के रूप में उनकी ओकात दिखाते हुए उनके मोबाइल जमा करवा लिए गए, विकास भवन के सभागार में योगी ने अधिकारियो से बंद कमरे में अधिकारियों के चश्में में झांककर मण्डल की कानून व्यवस्था और विकास कार्यों का जादुई तरह से दीदार कर लिया। पूरा दिन बरेली की सड़के भाजपाई झण्डे लगी गाउियों के हूटर के आतंक की चपेट में रही। सीएम को इस तरह के बेमिसाल विकास को देखकर खुश होने की बजाये अफसरान की कहानियों ने ही बाग बाग कर दिया। सवाल यह पैदा होता है कि जब सीएम को अपनी आंखों से कुछ देखना पसन्द नही है तो कुछ घण्टों के करोड़ों रूपये ठिकाने लगवाने की क्या जरूरत थी, अफसरान के आंखों से ही सब देखना था तो अफसरान को ही लखनऊ बुलाकर इस तरह के विकास की शाबाशी दे देना चाहिये थी।

  Similar Posts

Share it
Top