नकली आईस्क्रीम के धंधे को सरकारी संरक्षण

2018-06-20 05:23:14.0

भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश बनाने का ढोल पीटने वाली योगी सरकार के दौर में करैप्शन सिर चढ़ कर बोलने लगा है, एक तरफ जहां नियमानुसार कारोबार करने वालों की जिन्दगी दूभर करदी है सरकार के ऊल जलूल नियमो ने, तो दूसरी तरफ गैर कानूनी तरीके से बिजनैस करने वालों को योगी के अफसरान की सरपरस्ती हासिल है।

एवीएन के जन स्वास्थ सुरक्छा प्रोग्राम के तहत हमारे यूपी स्टेट हैड संदीप शर्मा की निगरानी मे एवीएन की टीम पहुंच गयी यूपी के पीलीभीत ज़िले के बिलसण्डा, यहां पर रामजी राइस मिल के अन्दर नकली आईस्क्रीम बनाने का धंधा चलता है।

नकली आईस्क्रीम बनाने का काम बदायूं जिले का शुएब नामक व्यक्ति करता है।

हमने देखा कि जिस पानी से आईस्क्रीम बनाई जा रही है वह फिल्टर नही किया जाता मतलब आरओ नही लगा है, घटिया रंग, पुरानी ब्रेड जो खोया की जगह डाली जा रही है, चीनी का नामो निशान नही मिला, चीनी की जगह केमीकल इस्तेमाल किया जाता है, फूड लाईसेंस भी नहीं है, 10 से 16 साल के किशोरो से 30 फीसद कमीशन देकर आईस्क्रीम गांवो मे बिकवाई जा रही है।

हमारी टीम ने जब वहां मोजूद शुएब नामक व्यक्ति से बात की तो वह दादागीरी करने लगा।

आईये देखते है कि चन्द सिकको के लिए योगी के अफसरान किस तरह बच्चो के जीवन से खिल्वाड़ कर रहे है।

Sandeep Sharma

Sandeep Sharma

Our Contributor help bring you the latest article around you


  Similar Posts

Share it
Top