गुलाम किसानों की मज़ाक उड़ा रही योगी की मशीनरी

2017-09-05 09:00:28.0

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में पंडित दीनदयाल उपाध्याय के शताब्दी समारोह के तहत मेले का आयोजन किया गया जोकि 3 दिन तक चलेगा शाहजहांपुर के विकासखंड बंडा में आयोजित इस मेले का सीडीओ शाहजहांपुर ने फीता काटकर इसका शुभारंभ किया जिसमें कि लोगों को स्वच्छ भारत अभियान के तहत जागरुक करने के लिए लगाया गया है लेकिन सीडीओ के जाने के तुरंत बाद ही सभी अधिकारी रफूचक्कर हो गए जो ग्रामीण मेले में आए हुए थे।
वह लोग स्टार खाली देख कर चले गए तो वहीं खड़े भारतीय किसान यूनियन के नेता मनदीप सिंह ने अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और आवासों में हो रही धांधली करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की एवीएन न्यूज के मंडल ब्यूरो चीफ संदीप शर्मा का कैमरा जब स्टालों पर गया तो देखा कि कोई भी अधिकारी वहां मौजूद नहीं था।
जो कि ग्रामीणों को जानकारी दे सके और स्वच्छ भारत अभियान के तहत जागरुक किया जा सके तो वहीं महिलाओं ने भी अपनी अपनी समस्या सुनानी शुरू कर दी तो वहीं नवनीत दीक्षित ने डीएम शाहजहांपुर को भेजे पत्र में बताया कि उसके गांव सिसोरा सिसोरी मै प्रधान द्वारा फर्जी आवासों को वितरित किया गया और लाभार्थी अभी भी खाली हाथ ही घूम रहे हैं जिनकी शिकायत उन्होंने तहसील दिवस एवं डीएम शाहजहांपुर को देकर उच्च स्तरीय जांच की मांग की, तो वहीं कई लोगों ने तो प्रधानों पर आवास वितरण के लिए रिश्वत मांगने का भी आरोप लगाया खाली पड़े स्टालों को देखकर एक बात तो सामने आती है।
क्या यह जनता के लिए मजाक है या फिर अधिकारियों की लापरवाही एवीएन की टीम ने वहां पर खड़े लोगों से जब पूछा कि कितने अधिकारी आपको मौजूद मिले तो उनका स्टीक जवाब यही था कि वह सुबह से ही ब्लाक परिसर में आए हुए हैं लेकिन वहां पर कोई भी अधिकारी दिखाई नहीं दिया इसीलिए वह लोग वापस जा रहे हैं अब देखना यह है कि 6 तारीख को जब डीएम आएंगे तो वह क्या कार्रवाई करते हैं।

  Similar Posts

Share it
Top