साधू के वेश में छुपा हत्यारोपी अरैस्ट

2017-02-10 11:59:10.0

साधू के वेश में छुपा हत्यारोपी अरैस्ट

अशोकनगर:- (हेमन्त यादव) पिपरई थाना क्षेत्र के फुलेदी गांव में अपनी ही पत्नि को मिट्टी का तेल डालकर आग लगाकर उसे मौत के घाट उतारने वाला आरोपी आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया। सच कहते है, कहने वाले की अपराधी कितना ही शातिर क्यों न हो वो पुलिस की गिरफ्त से बच नही सकता। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। जब पुलिस ने 12, साल से हत्या के केस में फरार चल रहे आरोपी को गिरफ्तार किया है। जानकारी देते हुए मुंगावली एसडीओपी राकेश संकवार ने बताया कि 4, जुलाई 2005 को पिपरई थाना क्षेत्र के फुलेदी गांव में पप्पू उर्फ महेश यादव पुत्र लाखन यादव ने अपनी पत्नि कृति बाई को मिट्टी का तेल उड़ेल कर आग लगा दी थी। जिसमें उसकी मौत हो गई थी। इस घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी पति पर हत्या का प्रकरण दर्ज हुआ था। लेकिन तब से ही वह फरार चल रहा था। उसके खिलाफ वारंट जारी कर रखे थे। तभी से वह साधु का वेश धारण कर के गूगेर मंदिर छवडा राजस्थान में पुजारी बनकर रहने लगा था किसी को वहां पर पता भी नहीं चला कि मंदिर में रहने वाला व्यक्ति हत्या का आरोपी है। पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना मिली थी कि हत्या का आरोपी गूगेर मंदिर छवडा राजस्थान में साधु के वेश में रह रहा है। आरोपी ने पुलिस से बचने के लिए यह वेशभूषा धारण कर ली थी। पुलिस ने आरोपी को पकडने के लिए पुलिस की एक टीम बनाकर छवडा राजस्थान भेजी थी। जिसमें एएसआई अमृत लाल शर्मा प्रधान आरक्षक शशिइन्द्र रघुवंशी आरक्षक पांडे और आरक्षक दीपक जाट शामिल थे। जिन्होंने सूझबूझ से मुखबिर द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार योजनाबद्ध तरीके से छवडा पहुंचकर आरोपी की जानकारी मिलाई इसके बाद आरोपी की पुष्टि होने के बाद उसे धर दबोचा और उसे गिरफ्तार कर के उसे अपने साथ ले आए। आरोपी के खिलाफ धारा 302, 201, आईपीसी के तहत मामला दर्ज था पुलिस ने आरोपी को न्यायालय में पेश कर दिया।

खबरों से लगातार अपडेट रहने के लिए एवीएन की एप्प इंस्टाल करिये - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ally.avnn

  Similar Posts

Share it
Top