सबसे पहले ना देखने पर डाक्टर पर जातिवाद का आरोप

7 Sep 2019 1:00 AM GMT

पहले से खड़े मरीज़ों से पहले मां को दिखाने की कोशिश, नम्बर से देखने पर डाक्टर के खिलाफ बखेड़ा

शाहजहांपुर के मेडिकल कॉलेज के ट्रामा सेंटर में तैनात डॉक्टर बी के गंगवार ने मरीज़ को नम्बर से ही देखने की बात कहने पर मरीज़ के तीमारदार ने डाक्टर के खिलाफ जातिवाद का ड्रामा खड़ा कर दिया,

तीमारदार अपनी माँ की तबियत खराब होने के कारण अपनी मां को मेडिकल कॉलेज के ट्रामा सेंटर में भर्ती करवाने के ले गया था

मरीज़ों की तादाद ज्यादा थी, शिकायत कर्ता सबसे पहले अपने मरीज को देखने का दबाव डालने लगा, डॉक्टर ने नम्बर से ही देखने की बात कही इसपर वह भड़क गया, और डाक्टर पर जातिवाद का आरोप लगाकर बखेड़ा खड़ा कर दिया

सोने पर सुहागा राज्य महिला आयोग की सदस्य, जी हां सही सुना आपने महिला आयोग की सदस्य,

स्वास्थ मंत्री, स्वास्थ सचिव या स्वास्थ विभाग का कोई अफसर नही,

बल्कि महिला आयोग की सदस्य सुनीता बंसल मेडीकल कालेज का इंस्पैक्शन, जी हां महिला आयोग की सदस्य मेडीकल कालेज का इंस्पैक्शन करने पहुंची गई,

मैडम को देखते ही उसने ज्यादा बखेड़ा खड़ा कर दिया, मैडम ने भी लगे हाथों डाक्टर को हड़का दिया

डाक्टर पर लगाये जा रहे आरोप को देखने पर एक बड़ा सवाल यह पैदा होता है कि डाक्टर को कैसे मालूम होगा कि रोगी किस जाति का है, क्या रोगी अपने गले में जाति का बोर्ड टांगकर आया था,

क्या वह पहले से ही डाक्टर का परिचित है,

क्या वह अपनी जाति बताने वाला ढोल बजाता हुआ आया था,

क्या वह कोई खास तरह के हुलिया में था जिससे उसकी जाति का पता चलता हो

  Similar Posts

Share it
Top