महिला सशक्तिकरण की उप्लब्धि, एक और महिला की आबरू ज़नी

4 Jan 2019 8:00 PM GMT

मोदी योगी की सरकारें महिला सशक्तिकरण के नाम पर मंचों पर और पालतू मीडिया के कैमरों के सामने कितनी ही ढींगे क्यों ना मार लें, लेकिन यूपी में ही नहीं बल्कि पूरे देश में महिलाओं की जान इज़्ज़त हर वक्त खतरे में ही है।

ताज़ा खबर उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से है, ज़िले में अपराधिक वारदातों को रोक पाने में पुलिस पूरी तरीके से नाकाम साबित हो रही है। भुक्तभोगी रोज थानों और पुलिस अफसरों के यहां के चक्कर काटते हैं, लेकिन योगी की मशीनरी है कि सुनती ही नहीं।

महिलाओं की सुरक्षा का दावा करने वाली सरकार में ही महिलाएं सुरक्षित नहीं है।

ताजा मामला शाहजहांपुर के थाना बंडा के एक गांव से सामने आया है, यहां पर महिला ने बताया कि उसके पति की करीब 1 महीने पहले मृत्यु हो चुकी है उसके तीन बच्चे भी हैं।

उसी के गांव का एक व्यक्ति करीब 8 दिन से उसके साथ तमंचे के बल पर दुराचार कर रहा है, उसके चंगुल से महिला छूटकर थाने पहुंची। महिला का आरोप है कि उसे थाने से भगा दिया गया, उसके बाद महिला ने पुलिस कप्तान और 181 हेल्पलाइन पर फोन कर सारी आपबीती सुनाई।

जिसके बाद बंडा पुलिस हरकत में आई है और कार्रवाई की बात कर रही है देखना यह होगा कि महिला सुरक्षा का दावा करने वाली सरकार में विध्वा को किस हद तक न्याय मिलता हैं।

ब्यूरो रिपोर्ट शाहजहांपुर

  Similar Posts

Share it
Top