पुलिस के हत्थे चढ़े स्मैक तस्कर

2017-02-02 15:58:32.0

पुलिस के हत्थे चढ़े स्मैक तस्कर

लंबे समय से कर रहा था स्मैक की बिक्री

कई जनपदों में स्मैक पहुंचाने का करता था काम

उरई- जालौन (राहुल गुप्ता) बीती रात स्वाट टीम व सदर कोतवाली पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई को अंजाम देते हुये लंबे समय से जनपद में स्मैक की बिक्री में लिप्त शातिर स्मैक कारोबारी को नगर के बजरिया से गिरफ्तार कर उसके पास से 400 ग्राम स्मैक बरामद की जिसकी कीमत 50 लाख रुपये बतायी जा रही है। बताया जाता है कि गिरफ्तार स्मैक तस्कर की पुलिस लंबे समय से तलाश कर रही थी लेकिन वह हर बार पुलिस को गच्चा देकर अपने अवैध धंधे में लिप्त था। इतना ही नहीं वह दर्जन भर से ज्यादा जनपदों में स्मैक की सप्लाई अपने गुर्गों से पहुंचाता था।
पुलिस की गिरफ्त में आये बड़ा स्मैक विक्रेता नगर के मोहल्ला बजरिया निवासी पप्पू सुनार पुत्र सलीम की गिरफ्तारी के बाद मामले का खुलासा करते हुये अपर पुलिस अधीक्षक सुभाषचंद्र शाक्य ने मीडिया से रूबरू होते हुये बताया कि पप्पू सुनार जनपद में नहीं बल्कि दर्जन भर से ज्यादा जनपदों में अपने गुर्गों से स्मैक की खेप पहुंचाता था। एएसपी ने बताया कि पुलिस अधीक्षक डा. राकेश सिंह के निर्देशन में सीओ सिटी अरुण कुमार के नेतृत्व में बीती रात स्वाट टीम प्रभारी अरुण तिवारी व शहर कोतवाल संजय सिंह ने मुखबिर की सबसे सटीक सूचना के बाद जिले में स्मैक के सबसे बड़े स्मैक तस्कर को उस दौरान बजरिया में पहुंचकर गिरफ्तार कर लिया जब वह स्मैक लेकर उसकी बिक्री करने के लिये जा रहा था। पकड़े गये स्मैक तस्कर के पास से पुलिस ने 400 ग्राम स्मैक बरामद की जिसकी अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत लाखों रुपये बतायी जा रही है। मामले का खुलासा करते हुये अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अब पुलिस स्मैक तस्कर के ऐसे गुर्गों की सरगर्मी से तलाश करने में जुट गयी है जो उसके कारोबार में सहभागी बनकर गैर जनपदों में स्मैक की डिलेवरी पहुंचाने का काम करते थे। उन्होंने कहा कि पुलिस ने पकड़े गये स्मैक तस्कर से पूंछतांछ शुरू कर दी है ताकि जल्द से जल्द पुलिस उसके करीबियों पर भी कानूनी शिकंजा कस सके। फिलहाल तो पुलिस की कार्रवाई के बाद अब जिला मुख्यालय में दो स्मैक तस्कर ऐसे हंै जो पुलिस की पकड़ से दूर बताये जा रहे हैं। शातिर स्मैक तस्कर को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में सिपाही शैलेंद्र चैहान, उपेंद्र यादव, स्वाट टीम सिपाही नीतू कुमार, रवि भदौरिया, अनिल मिश्रा, मनोज सोनकर, बाबा राजा के नाम शामिल हैं।

तिहरे हत्याकांड को अंजाम देने वालों ने भी लिया था पप्पू का नाम

उरई के मोहल्ला विजय नगर निवासिनी महिला जो लंबे समय से स्मैक के धंधे से जुड़ी थी लेकिन इसी बीच उसके घर में हुये तिहरे हत्याकांड के बाद जब पुलिस ने मामले का खुलासा किया था उस दौरान गिरफ्तार हत्यारोपियों ने पप्पू सुनार का भी नाम लिया था। तभी से पुलिस पप्पू सुनार की गतिविधियों पर पैनी नजरें गढ़ा दी थी और अपने मुखबिरों को सक्रिय कर दिया था। लेकिन स्मैक के धंधे से जुड़ी महिला सहित तिहरे हत्याकांड का पुलिस ने जब तक खुलासा नहीं किया था तब तक पप्पू सुनार भूमिगत रहा था लेकिन जैसे ही पुलिस ने तिहरे हत्याकांड का खुलासा किया तो वह फिर से स्मैक के धंधे में जुट गया था।

  Similar Posts

Share it
Top