गला घोंटू नीति के खिलाफ जनमानस की आवाज़ उठना शुरू

30 Aug 2018 9:45 PM GMT

मोदी सरकार की गला घोंटू नीति के खिलाफ जनमानस की आवाज़ उठना शुरू हो गयी है।

आज बिजनोर के किरतपुर में किसान मज़दूर सभा के सैकड़ो लोगो ने सभा की और विरोध जताया।

कामरेड शमशाद हुसैन ने ट्रेड यूनियन नेता एडवोकेट सुधा भारद्वाज, मानव अधिकार नेता गौतम नौलखा, पत्रकार ओर लेखक वरवरा राव की गिरफ्तारी पर कड़ा विरोध जताया है और उनको नजर बंद करने की कड़े शब्दों में निंदा की है।

उन्होंने कहा कि जो जन विरोधी नीतियों साम्राज्यवादी साजिश के खिलाफ बोलते हैं उनपर आरएसएस मोदी बीजेपी सरकार का हमला कर रही है।

फासीवादी सांप्रदायिक जातिवादी साजिशो के खिलाफ आवाज उठाने वालों को चुप करने का प्रयास है, जो लेखक बुद्धिजीवी मानव अधिकार नेता त्ै बीजेपी की साम्प्रदायिक सोच के खिलाफ जनता को जागरूक कर रहे हैं या करना चाहते हैं उनपर मोदी सरकार हमले करके 2019 के चुनाव के लिए विरोधियो का सफाया करने की तैयारी में है।

उन्होने कहा कि जनता को इसके खिलाफ खड़ा होना पड़ेगा और जनता के जनवादी अधिकारों पर जो हमले हो रहे हैं उसके खिलाफ इन लेखकों पक्ष में खड़ा होना चाहिए।

बिजनौर से अजमल अंसारी की खास रिपोर्ट

  Similar Posts

Share it
Top