विधायकों से रंगदारी मांगने की बात, हज़म नहीं हो रही

2018-05-24 13:33:09.0

विधायकों से रंगदारी मांगने की बात, हज़म नहीं हो रही

(रिपोर्ट संदीप शर्मा स्टेट हैड)


भाजपा विधायक से रंगदारी माँगने के मामले में निजी सचिव जगबीर सिंह की तहरीर पर कटरा थाने पर अज्ञात के विरुद्ध रंगदारी मांगने की पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जाँच शुरू की। परिवार में विधायक वीर विक्रम सिंह प्रिंस के रंगदारी ना देने पर परिवार को मिली जान से मारने की धमकी से दहशत व्याप्त। विधायक के निजि निवास ग्राम डभौरा व कस्बा फतेहगंज पूर्वी स्थित पूर्व विधायक वीरेंद्र प्रताप सिंह मुन्ना के आवास पर सुरक्षा बढ़ाई गई मीरानपुर कटरा भाजपा विधायक वीर विक्रम सिंह प्रिंस के निजी सचिव जगबीर सिंह पुत्र श्री रामपाल सिंह निवासी ग्राम पहाड़पुर थाना गढ़िया रंगीन ने कटरा थाने पर अज्ञात के विरुद्ध विधायक से रंगदारी मांगने की लिखाई रिपोर्ट में पुलिस को बताया है कि विधायक वीर विक्रम सिंह प्रिंस 16 मई को पोर्ट ब्लेयर गए हुए थे विधायक के मोबाइल व्हाट्सएप नंबर पर 21 मई को अज्ञात नंबर से एक मैसेज आया जिसमें अपने आप वहअली वुदेश भाई अंकित किया गया है। मैसेज में 1000000 रुपए की फिरौती मांगी गई थी। 3 दिन के अंदर फिरौती की रकम ना देने पर विधायक के परिजनों को एक-एक कर हत्या कर देने की धमकी दी गई थी। 22 मई को पुनः उपरोक्त नंबर से विधायक जी के मोबाइल व्हाट्सएप पर फिरौती का मैसेज प्राप्त हुआ। जिसमें विधायक को पुनः फिरौती की रकम ना देने पर परिजनों को जान से मारने की धमकी दी गई ।विधायक प्रिंस द्वारा वाट्स एप के मैसेज पर मिली फिरौती की धमकी से पुलिस के उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया जिससे पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। वर्तमान भाजपा विधायक वीर विक्रम सिंह प्रिंस के निजी सचिव जगबीर सिंह के प्रार्थना पत्र पर कटरा पुलिस ने अज्ञात के विरुद्ध रंगदारी की 1000000 रुपए फिरौती मांगने पर रिपोर्ट दर्ज कर ली और जांच शुरू कर दी ।दूसरी ओर विधायक के निज निवास ग्राम डभौरा ब विधायक के माता-पिता पूर्व विधायक वीरेंद्र प्रताप सिंह मुन्ना कस्बा फतेहगंज पूर्वी जिला बरेली में रहते हैं। पुलिस द्वारा सुरक्षा की दृष्टि से फोर्स लगा दी गई है दूसरी ओर विधायक के मोबाइल व्हाट्सएप नंबर पर 1000000 रुपए की रंगदारी मांगने के मद्देनजर परिजनों में दहशत व्याप्त है। विधायक के शुभचिंतकों व परिजनों में फिरौती मांगी जाने को लेकर चिंताएं बढ़ गई है।और समर्थकों की विधायक के निज निवास ग्राम डभौरा उनके पिता पूर्व विधायक वीरेंद्र प्रताप सिंह मुन्ना के कस्बा फतेहगंज पूर्वी स्थित आवास पर समर्थकों की भीड़ टूटने लगी है।

बड़ी ही अजीब या यह कहें कि किसी भी तरह गले ना ऊतरने वाली इस कहानी में चौकाने वाली बात यह है कि गुजरे कम से कम पचास साल के राजनैतिक इतिहास मे देश भर में एक दो को हटाकर एक भी विधायक या सांसद ऐसा नही बना जिससे रंगदारी मांगने की कोई जुर्रत कर सके, मशहूर कहावत है कि "कसाई का माल कटरा नहीं खा सकता"


  Similar Posts

Share it
Top