हम नहीं सुधरने वाले

11 Feb 2019 7:02 PM GMT

हम नहीं सुधरने वाले

हम है हिन्दोस्तानी - सुधरेंगे नहीं

हमें ना पढ़ाई लिखाई सुधार सकती, ना किसी की कोशिश और ना ही ओहदे

यह नज़ारा है बरेली सिविल लाईन की जजेज़ कालोनी का

समझना मुश्किल है कि यहां कूड़े पर कूड़ेदान है, या कूड़ेदान की छत्रछाया में कूड़ा ?

(फोटो - इमरान नियाज़ी)

  Similar Posts

Share it
Top