कानून तोड़ने पर कथावाचक अरैस्ट

11 Sep 2018 11:15 PM GMT

कानून को ठेंगा दिखाने की कोशिश करने पर देवकी नंदन ठाकुर को पुलिस ने धर लिया।

मामला ताज नगरी आगरा का है।

आगरा मे कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए इन दिनो धारा 144 लागू है, निषेधाज्ञा लागू होने के बावजूद कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर ने मंगलवार को सवर्ण वर्ग के साथ एससी एसटी एक्ट के विरोध में रणनीति बनाने के लिए आगरा पहुंचकर मीटिंगे करना शुरू करदी।

सूचना मिलने पर थाना हरीपर्वत पुलिस ने देवकी नंदन को प्रेसवार्ता करने से पहले की हिरासत में ले लिया।

पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद कहा कि आगरा में धारा 144 लागू है और कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर के पास कोई परमीशन नहीं थी।

हालाकि गिरफ्तारी के बाद देवकी नंदन ठाकुर ने कहा कि ये लोकतंत्र की हत्या है।

दरअसल एससी एसटी वर्ग के विरोध को धार देने आए थे देवकी नंदन ठाकुर, आगरा के ठाकुर समाज ने इस एक्ट का विरोध करने के लिए महापंचायत का ऐलान किया था।

लेकिन, पुलिस प्रशासन ने किसी बैठक या पंचायत वगैरा की इजाजत देने से मना कर दिया था।

लेकिन प्रशासन के आदेशों को ठेंगा दिखाते हुए मंगलवार को आगरा में कमला नगर के एक रेस्टोरेंट में देवकी नंदन ठाकुर ने प्रेस वार्ता करने की कोशिश की। लेकिन, प्रेसवार्ता होने से पहले ही थाना हरीपर्वत पुलिस पहुंच गई और उन्हें गिरफ्तार कर लिया। थाना हरीपर्वत पुलिस के साथ सीओ रितेश कुमार सिंह मौजूद थे। उन्होंने कहा कि देवकी नंदन ठाकुर के पास मीटिंग की इजाजत नहीं थी। फिर भी उन्होंने आगरा में मीटिंग करने की कोशिश की।

खबर लिखे जाने तक पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले जा रही थी।

  Similar Posts

Share it
Top