Top

लावारिस बनाकर छोड़ दिये दूसरी जगहों से आए गांव वाले

17 April 2020 9:15 AM GMT

लावारिसों की तरह गांव से बाहर डाल रखा है बाहर से आए गांव वालों को

करोना वायरस की रोकथाम के नाम पर जहां जनता पूरी तरह सहयोग करती नज़र आ रही है वहीं सरकारी मशीनरी जनता को उसके गुलाम होने का अहसास कराने का कोई मौका नहीं गवां रही है,

आज हम बात कर रहे है यूपी के इटावा की, जहां दूसरे सूबों से आने वालों को क्वारेंटाईन के नाम पर उनके घरों पर जाने से रोककर स्कूलों, पंचायत भवनों मे रखा जा रहा है,

जैसे तैसे लोग अपने गांव मुहल्लों में पहुंच रहे है तो प्रशासन उन्हें स्कूल भवन में रखने भर को ही ज़िम्मेदारी मान रहा है, इन लोगो के खाने पीने के साथ दूसरी जरूरतों के नाम पर प्रशासन सिर्फ ठेंगा दिखा रहा है,

इटावा के बढ़पुरा ब्लॉक के धिमरई गाँव मे एक शख्स हैदराबाद और एक शख्स महाराष्ट्र के नासिक से जैसे तैसे अपने गांव पहुंचा,

लेकिन गाँव मे घुसने से पहले ही गाँव वालों और प्रधान ने सरकारी स्कूल मे रोक दिया,

इन लोगो का कहना है कि प्रधान या प्रशासन की तरफ से कोई मदद नही मिल रही है, घर के लोग ही खाना पानी पहुँचा रहे है

दूसरी तरफ सीडीओ राजा गणपति आर ने कहा कि जब तक कोविड19 की रिपोर्ट नही आ जाती यह लोग गाँव से अलग स्कूल में ही रहेगे,

इन लोगों के खाने पीने के इन्तेज़ाम के नाम पर कोई जवाब नहीं दे सके सीडीओ

  Similar Posts

Share it
Top