पुलिस ने मस्जिद के ईमाम को पीटा

10 Sep 2019 8:30 PM GMT

(साभार - hindi news times)

इसे सरकारी आतंक कहा जाए या योगीराज का नशा

बिजनौर जिले की नजीबाबाद पुलिस ने बेवजह ही मस्जिद के पेश इमाम को ना सिर्फ सरेआम पीटा बल्कि बचाने की कोशिश करने वाली महिलाओं से भी जमकर बदतमीजी की।

सपाई विधायक ने दिखाई एहसान फरामोशी, नहीं सुनी वोटरों की पीड़ा।

मामला यूपी के बिजनौर जिले के तुलसी गढ़ी और कछियाना गांवों का है, दोनों गांव आपस में जुड़े हुए है।

दो दिन पहले एक बच्चे को दो बच्चों ने पीट दिया था, मामला पुलिस में पहुंचा, क्योंकि मामला छोटे बच्चों का था इसलिए कोतवाल और कुछ सुलझे लोगों ने बच्चों को हल्की डांट डपट करके समझौता करा दिया।

लेकिन आज सुबह इलाकाई पुलिस बच्चे के घर में घुस गई और उसके पिता को खींचकर ले जाने लगी

यह देखकर मस्जिद के पेश इमाम मौहम्मद यामीन ने दरोगा से कहा कि इन लोगों का समझौता हो गया है।

यह सुनकर योगी पुलिस का दरोगा भड़क गया और अपने साथी सिपाहियों के साथ पेश इमाम पर टूट पड़ा, उन्हे ना सिर्फ सड़क पर पीटा बल्कि बचाने की कोशिश करने वाली औरतों से धक्कामुक्की और गाली गलौच की।

मस्जिद के पेश इमाम को पीटे जाने से लोग भड़क गये और समाजवादी विधायक तस्लीम अहमद के पास पहुंचे, विधायक ने एहसान फरामोशी का सबूत दिया और कोई मदद नहीं की।

ऊधर भीड़ बढती गई, दरोगा की गुण्डागर्दी और विरोध की भीड़ बढ़ने की खबर पाकर नजीबाबाद कोतवाल और बीएसपी नेता इंजीनियर मोअज्जम ने मौके पर पहुंचकर लोगों को शान्त किया और आतंक मचाने वाले पुलिस वालों को सस्पैण्ड कराने का आस्वाशन दिया

अब देखना यह है कि सस्पैण्ड किया जाता भी है या मोदी योगी सरकारें बचा लेंगी

  Similar Posts

Share it
Top