Top

अपने ही साथी से दग़ा कर रही है बीजेपी

2 Jun 2020 12:15 PM GMT

दफ्तरों की ठोकरें खाता फिर रहा है मकतूल का परिवार,

थाने से मुख्यमंत्री तक कोई नहीं सुन रहा गुहार,

मामला योगी की अपराधमुक्त यूपी के बरेली का है,

दरअसल बरेली के थाना बारादरी के एजाज़नगर गौटिया के यूनुस अहमद उर्फ डम्पी को पुरानी रंजिश के चलते गुज़री अप्रैल की चौदह तारीख को उनके घर पर ही गोलियों से भून दिया गया था,

परिवार ने नामज़द रिपोर्ट दर्ज कराई थी,

दो दिन बाद पुलिस ने दो लोगों को जेल भेज दिया,

लेकिन मेन आरोपी समेत दो लोग आज भी खुले घूम रहे हैं, गिरफ्तारी की मांग के साथ पीड़ित परिवार थाने से लेकर मुख्यमंत्री तक से गुहार लगा लगाकर थक गया लेकिन किसी के कान तले जूं नहीं रेंग रही है,

पीड़ितों की गुहार ना सुनना या इंसाफ के लिए लगाई जा रही गुहार का ना सुना जाना कोई चौंकाने वाली बात नहीं है, क्योंकि यह तो देश की पहचान बन चुका है,

चौकाने वाली बात यह है कि यूनुस अहमद ने गुजरात और बाबरी के कातिलों का पटटा गले मे डाल लिया था, आज डम्पी के वहीं आका सरकार में बैठे होने के बावजूद उनके परिवार की गुहार नहीं सुन रहे,

  Similar Posts

Share it
Top