खेल बनाकर रख दिया तिरंगा का

26 Jan 2019 6:00 PM GMT

गुज़रे कुछ सालों से देश की आन बान शान के प्रतीक तिरंगा कुछ लोगों की नेतागीरी चमकाने और कानून को अपनी जेब मे रखने का बेहतरीन साधन बन दिया गया है, कहीं धार्मिक आयोजनों मे तिरंगे का खुला अपमान तो कहीं ऐरा गैरा के शवों पर तिरंगा डालकर तिरंगे की तौहीन किया जाना खेल बना लिया गया है।

आज फिर तिरंगे के नाम पर नेतागीरी, नारेबाज़ी, जाम वगैराह का झमेला खड़ा किया गया।

दरअसल आज 26 जनवरी को कुछ लोग तिरंगे हाथ में लेकर रैली निकालने लगे। इस रैली को तिरंगा यात्रा का नाम दिया गया।

इस यात्रा को प्रशासन ने किला ओवर ब्रिज के पास रोक दिया, बस शुरू हो गयी नारे बाजी, लगा दिया, अफसरान की काफी मशक्कत के बाद जाम खुल सका।

पुलिस का कहना है कि यह यात्रा बिना परमीशन निकाली जा रही थी, तो वहीं आयोजकों का कहना है इस में परमीशन की जरूरत ही नहीं है।

अब सवाल यह पैदा होता है कि आखिर तिरंगे का खेल क्यों बनाया जा रहा है?

  Similar Posts

Share it
Top