भाजपाइयों ने की इस्पैक्टर पर फायर झोंकने की कोशिश

2018-03-26 20:45:31.0

यूपी में बीजेपी की सरकार बनने के साथ से ही पुलिस पर हमलों का नियम बना दिया गया है पुलिस प्रशासन के अफसरान पर भाजपाईयों का आतंक आम बात हो गया है एक साल के अरसे में यूपी के दर्जनों थानों पर हमले करके भाजपाईयों ने पुलिस अफसरान की पिटाई तो की ही साथ ही सरकारी दस्तावेज और सम्पत्ति को भी बरबाद किया।
दरअसल जब प्रशासनिक अफसरों को सरकारी डियुटी के दोरान पीटने वालों को सूबे के गवर्नर ही बगल में लेकर घूमते हो तो हौसले बुलन्द होना प्राकृतिक है।
ताजा मामला बरेली के थाना प्रेमनगर इलाके का है गुजरी देर रात तीन भाजपाईयों ने जमकर गुण्डई और फायरिंग तो की ही साथ ही इस्पैक्टर पर भी फायर झोंकने की कोशिष्ज्ञ की। गनीमत रही कि इस्पैक्टर के साथ गये सिपाहियों ने फुरती दिखाते हुए गुण्डों को काबू में लेकर हथियार छीन लिये।
रामपुर के शाहबाद ब्लाक का प्रमुख रह चुका भाजपाई अपने दो दोस्तों के साथ शराब पीने पहुंचा जमकर शराब पी और उसके बाद इलाके को खौफ जदा करने के लिए फायरिंग करने लगा, सूचना पर पहुंचे इस्पैक्टर प्रेमनगर पर भी फायर झोंकने की कोशिश की लेकिन सिपाहियों ने झपटकर उसे काबू में ले लिया। बतादें कि वह जिस पिस्टल से फायरिंग कर रहा भी वह कानूनी तौर पर प्रतिबन्धित है। यहां सवाल यह पैदा होता है कि प्रतिबन्धित बोर की पिस्टल इसके पास कहां से आई और कैसे मिली।
फिलहाल पुलिस ने तीनों को जेल भेज दिया है। पुलिस को यह तलाशना होगा कि आखिर प्रतिबन्धित पिस्टल इसकों कहा से मिली।

  Similar Posts

Share it
Top