Top

गुलाम बनाकर रखा जा रहा बरेली का रोहनियां गांव

3 Jun 2020 7:44 AM GMT

आजतक गुलाम ही है बहेड़ी का रोहनिया गांव,

यूं तो, बच्चों को पढ़ाया जाता है कि 1947 में देश ब्रिटिश शासन से आज़ाद हो गया,

लेकिन आज़ादी दिखाई कहीं नहीं देती, खादी और खाकी के अलावा सब कुछ ज्यों का त्यों गुलाम ही नज़र आता है,

1947 से पहले और इसके बाद से फर्क सिर्फ इतना हुआ कि पहले भारत विदेशियों का गुलाम था और अब देसियों का गुलाम हैं,

हम पहले भी सैकड़ों सबूत आपको दिखा चुके हैं,

आज गुलामी की ज़ंजीरों में जकड़ा एक और गांव आपको दिखाते हैं,

यह है बरेली ज़िले की बहेड़ी तहसील का ग्राम पंचायत रोहनिया,

तस्वीरें खुद बता रही हैं कि यह गांव गुलामी की जंजीरों में जकड़कर रखा जा रहा है,

हम मौजूदा बीजेपी सरकार को जिम्मेदार नहीं ठहरा रहे, क्यों कि इससे पहले कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी की सरकारों ने भी गांव से हफ्ता वसूली यानी लगान वसूला है, लेकिन गांव को क्या दिया ये तस्वीरें खुद बयां कर रही हैं

  Similar Posts

Share it
Top