नेपाली नगर पालिका का पक्की पुलिया का निर्माण कार्य रूका

2017-02-22 16:46:41.0

लखीमपुर खीरी (अभिषेक बाजपेयी के साथ विशाल राजपूत की रिपोर्ट) भारत-नेपाल सीमा पर बसही गांव से सटे नोमैंस लैंड पर नेपाल की ओर से किए जा रहे पुलिया निर्माण से उपजा विवाद चार दिन बाद दोनों देशों के अधिकारियों की बैठक के बाद थम गया। बैठक में सहमति बनी है कि सीमा का नवीन सर्वे जब तक नहीं होता नेपाल की ओर से नोमैंस लैंड के दस गज के दायरे के बाहर नेपाली क्षेत्र में हृयूम पाइप डालकर कच्चा अस्थाई रास्ता बनाया जा सकता है। मामले को लेकर नेपाली नाराज थे और रोजाना अधिकारियों की बैठक हो रही थी।

बतादें कि 18 फरवरी को भारत नेपाल के बसही गांव से सटे नोमैंस लैंड पर नेपाली सीमावर्ती नगर पालिका कई हृयूम पाइप डालकर एक पुलिया बना रही थी। खबर मिली तो भारतीय प्रशासन में हड़कंप मच गया। अधिकारियों ने वहां पहुंचकर नापजोख की और निर्माण को नोमैंस लैंड के दस गज के दायरे में पाया। जिस पर निर्माण रुकवा दिया गया। नेपाली नगरपालिका की ओर से कहा गया कि यह जमीन उनके क्षेत्र में है और नोमैंस लैंड के दायरे से बाहर है। इसको लेकर गतिरोध शुरू हो गया और रोजाना भारतीय और नेपाली अधिकारियों की बैठक होने लगी, लेकिन निर्माण नहीं करने दिया गया। मंगलवार को एसडीएम शादाब असलम, एसएसबी कमांडेंट दिलबाग सिंह, सीओ जितेंद्र गिरी, एसओ धर्मेंद्र कुमार, नायब तहसीलदार धनश्याम भारती, नेपाल की ओर से नेपाल पुलिस एसपी प्रकाश चंद, एपीएफ से केएस धामी, सहायक सीपीओ प्रेम सिंह कंवर आदि समेत नेपाली नगर पालिका के लोग एकत्र हुए और वार्ता की। जिसमें भारतीय अधिकारियों ने कहा कि नोमैंस लैंड पर कोई निर्माण नहीं होने दिया जाएगा। नेपालियों ने कहा कि यह जगह नोमैंस लैंड से बाहर नेपाल की है, तभी निर्माण हो रहा था। भारतीय अधिकारियों ने कहा कि फौरी तौर पर की गई जांच में यह नोमैंस लैंड में आ रही है।

  Similar Posts

Share it
Top