हिंसा का विरोध करना राष्ट्रविरोध है तो मैं हूँ राष्ट्रविरोधी-शैलू

2017-03-02 10:30:07.0

हिंसा का विरोध करना राष्ट्रविरोध है तो मैं हूँ राष्ट्रविरोधी-शैलू


बहराइच (अभिषेक बाजपेयी) गुरमेहर के समर्थन से एबीवीपी का विरोध करने वाली डीयू की छात्रा गुरमेहर कौर के समर्थन में ठाकुर हुकुम सिंह किसान स्नातकोत्तर महाविद्यालय बहराइच के छात्रनेता शैलेश सिंह शैलू ने एबीवीपी को लोकतन्त्र के लिए खतरा बताया था इसके बाद फेसबुक और व्हाट्सअप पर लोग उन्हें देशध्रोही कहने के साथ - साथ उनको मारने पीटने की धमकी दे रहे है।

छात्रनेता शैलू ने बताया है कि कई शख्स ने उनके फेसबुक पोस्ट के कमेंट बॉक्स में एबीवीपी के हिंसक कृत्य को जायज बता रहे और उन्हें भी वही परिणाम भुगतने को कह रहे जो एबीवीपी ने रामजस कॉलेज के छात्रों के साथ किया था। छात्रनेता शैलू का कहना है कि गुरमेहर कौर का समर्थन करने के बाद कुछ लोग उनसे नाराज हैं और उन्हें राष्ट्रविरोधी कहा जा रहा है और मजाक उड़ाया जा रहा है। लेकिन छात्रनेता शैलू ने कहा अगर हिंसा का विरोध करना राष्ट्रविरोध है तो मैं राष्ट्रविरोधी हूँ।

पिछले बुधवार को रामजस कॉलेज के सेमिनार में जेएनयू के छात्र उमर खालिद को बुलाए जाने का एबीवीपी ने विरोध किया था। विरोध हिंसक होने पर करीब 20 छात्र घायल हो गए थे। छात्रनेता शैलू ने भी इसकी निंदा कि थी। डीयू की छात्रा गुरमेहर कौर ने एक लम्बे पोस्ट के साथ तख्ती पकड़े हुए अपनी फोटो प्रोफाइल पिक्चर के तौर पर लगाई थी, तख्ती पर लिखा है कि मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हूं। मैं तंग सोच की सियासी विचारधारा को अपने कैंपस और अधिकारों का अपहरण नहीं करने दूंगी, देश का हर स्टुडेंट मेरे साथ है।

देश भर के हजारों छात्रों ने गुरमेहर को फॉलो करते हुए अपनी प्रोफाइल तस्वीर को उनके ही अंदाज में बदला फेसबुक के अलावा ट्विटर और इंस्टाग्राम पर #StudentsAgainstABVP के साथ प्रतिक्रिया आने लगी। इसी तरह किसान स्नातकोत्तर महाविद्यालय के छात्रनेता शैलेश सिंह शैलू के साथ भी ऐसा ही हुआ वहीं कुछ लोग उनके इस समर्थन से नाराज भी हैं जो सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ लिख रहे हैं।

खबरों से लगातार अपडेट रहने के लिए एवीएन की एप्प इंस्टाल करिये - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ally.avnn

      Similar Posts

    Share it
    Top