करीला मेला में पॉलीथिन व नारियल अगरबत्ती पर रहेगा प्रतिबंध

2017-02-22 04:44:59.0

करीला मेला में पॉलीथिन व नारियल अगरबत्ती पर रहेगा प्रतिबंध

अशोकनगर। रंगपंचमी त्यौहार पर माता जानकी के करीला मंदिर में राई नृत्य के लिये देश भर में मशहूर मेले में इस बार प्रशासन ने पॉलीथिन पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। साथ ही सुरक्षा एवं व्यवस्था बनाये रखने के लिये मंदिर में नारियल एवं अगरबत्ती ले जाने पर भी प्रतिबन्ध रहेगा । अशोकनगर के मुंगावली जनपद के जसेया पंचायत के करीला जानकी मंदिर में लगने वाला मेला आसपास के प्रदेशो का सबसे बड़ा मेला है जहाँ एक दिन में लगभग 15 लाख श्रद्धालु इस मेले में आते हैं । इस स्थान को लेकर मान्यता है कि यह महर्षि वाल्मीकि का आश्रम रहा है ।यहीं पर माता सीता ने लव कुश को जन्म दिया था।इस स्थान पर माता सीता के साथ लव कुश एवं महर्षि बाल्मिक का मंदिर है ।यहां लोग अपनी मन्नत मांगने और उनका पूरा होने पर मंदिर में राई नृत्य करवाने आते है। रंग पंचमी पर लगने वाले राई मेले को लेकर प्रशासन ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी है तैयारियों को लेकर बीते दिनों जिला अधिकारियों ने एक बैठक आयोजित की जिसमें मेले के दौरान व्यवस्थाएं बनाए रखने को लेकर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई। जानकी मंदिर करीला धाम पर यह मेला 17 मार्च को ररंगपंचमी पर आयोजित किया जायेगी। बैठक में निर्णय लिया गया कि सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए मंदिर परिसर के अन्दर नारियल, अगरबत्ती एवं झण्डे ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। साथ ही प्लास्टिक पॉलिथिन पर भी प्रतिबंध रहेगा। इस संबंध में मेला दुकानदारों की बैठक ली जाकर इस संबंध में स्पष्ट रूप से निर्देषित किया जायेगा। साथ ही दुकानों के पंजीयन के समय भी निर्धारित शर्तों में इस बात का उल्लेख किया जाए।

खबरों से लगातार अपडेट रहने के लिए एवीएन की एप्प इंस्टाल करिये - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ally.avnn



  Similar Posts

Share it
Top