बिहार के तर्ज़ पर पंजाब में भी हो शराब बंदी-अनीता शर्मा

2017-03-16 14:28:04.0

बिहार के तर्ज़ पर पंजाब में भी हो शराब बंदी-अनीता शर्मा

लुधियाना पंजाब (मेराज) अगर सरकार की मांस सही हो तो बिहार जैसे राज्य में पूरी तरीके से शराब बंदी हो सकती है तो पंजाब में कियूं नही कांग्रेस सरकार प्रति वर्ष 25 प्रतिशत शराब के ठेके पंजाब में बंद करे- अनीता शर्मा लुधियाना पंजाब बेलन ब्रिगेड की राष्ट्रीय अध्यक्ष आर्कीटेक्ट अनीता शर्मा ने कांग्रेस सरकार को ई मेल भेजी है जिसमे उन्होंने कहा कि शराब सब नशों की जन्म दाता है क्योकि पहले इन्सान शराब पीता है जब उसके नशे की लत बढ़ जाती है और जब वह शराब से पूरी नहीं होती तो अन्य नशे हीरोइन स्मैक, गांजा व कोकीन आदि का सेवन करने लग जाता है। अगर सरकार की मंसा सही हो तो बिहार जैसे राज्य में शराब पर पूरी तरीके से पावंदी लग सकती है तो फिर पंजाब में कियूं नही गैर तलब है की बिहार सरकार में भी कांग्रेस जदयू और आरजेडी का गठबंधन है और फिर पंजाब में तो पूर्ण बहुम में कांग्रेस की सरकार है उन्होंने कहा कि बेलन ब्रिगेड ने नशों के खिलाफ 2014 में संसदीय चुनावों के दौरान इसकी शूरूआत की थी लेकिन बदकिस्मती से पंजाब में आज तक भी नशे का व्यापार जारी है और युवा वर्ग सबसे ज्यादा नशे का आदी हो रहा है। अनीता शर्मा ने कहा कि यू एन ओ के सर्वे से साबित हो चूका है कि सब नशों की जड़ शराब है। शराब का व्यापार पंजाब में सरकारी ठेको पर धडल्ले से हो रहा है । हर गली मुहल्ले गांव में शराब के ठेके घरों के बाहर खुले हुए है। यहां पर जनता आसानी से शराब खरीद सकती है यही कारण है कि पंजाब में साल 2016 में लगभग 8 करोड़ 40 लाख अंग्रेजी शराब की बोतल, 5 करोड़ बीयर की बोतल और 27 करोड़ देसी शराब की बोतलों की खपत में एक्साइज विभाग के अनुमान के अनुसार हुई है और नाजायज व दूसरे राज्यों से आने वाली शराब का कोई हिसाब नही है। अनीता शर्मा ने कहा कि पंजाब में शराब की खपत से अब ऐसा लगने लगा है कि शराब का छठा दरिया सरकार की मेहरबानी से पंजाब में बहने लग गया है अपने गम मिटाने के लिए इसमें गरीब और अमीर डुबकी लगा रहा है । गरीब व मजदूर लोग घर, परिवार, कारोबार की चिंता और तनाव व मानसिक परेशानी के कारण गली की नुक्कड़ पर सरकारी ठेके पर बिक रही शराब को पीकर अपने गम भुलाने के चक्कर में अपनी किडनी, लीवर, ब्लड प्रैशर व हार्ट जैसी बिमारियों की चपेट में आ चुके है। अनीता शर्मा ने कहा कि विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस ने एलान किया था कि उनकी सरकार बनने पर वह 4 महीने में नशा ख़त्म के देंगे और 5 प्रतिशत शराब के ठेको में कमी करेंगे। लेकिन बेलन ब्रिगेड की कांग्रेस सरकार से मांग है कि वह प्रति वर्ष 25 प्रतिशत शराब के ठेके पंजाब में बंद करे ताकि पंजाब की जनता सुख का साँस ले सके और गरीब मजदूर परिवार उजड़ने से बच जाए।

  Similar Posts

Share it
Top