क्षेत्राधिकारी के आदेश पर मुकदमा दर्ज

2018-06-01 11:34:21.0

क्षेत्राधिकारी के आदेश पर मुकदमा दर्ज

बिलसंडा थाने के गांव शीतलपुर की रहने वाली एक युवती की शादी हरदोई जिले के थाना पाली के अंतर्गत आने वाले ग्राम परेली में हुई थी। युवती ने अपने पति समेत ससुराल वालों पर दहेज की मांग, गली गलौज, मारपीट व दहेज की मांग पूरी न करने पर जान से मार देने की धमकी का आरोप लगाया है। क्षेत्राधिकारी के आदेश पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। बिलसंडा क्षेत्र के ग्राम शीतलपुर की रहने वाली बलविंदर कौर उर्फ प्रीत की शादी 26 फरवरी 2013 में हरदोई जिले के पाली थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम परेली में शीशा सिंह के पुत्र पलविंदर सिंह से हुई थी। प्रीत के दो बच्चे भी हैं जिसमें लड़का शेर सिंह उम्र करीब 2 वर्ष व लड़की हरमनदीप कौर उम्र करीब 4 वर्ष है। युवती ने बताया कि ससुराल वाले शादी के कुछ ही दिन पश्चात उससे दहेज की मांग करने लगे थे। दहेज में युवती से चार पहिया वाहन व पिता के नाम की जायदाद अपने नाम लगवाने के लगातार दबाव बनाते रहे। जब प्रीत ने इसका विरोध किया तो उसके पति समेत ससुराल वालों ने युवती के साथ गाली गलौज व जमकर मारपीट की तथा दहेज की मांग पूरी न होने पर जान से मारने की धमकी दी। प्रीत ने बताया कि ससुरालियों ने मारपीट कर उसे एक कमरे में बंद कर दिया था। इसकी भनक जब पड़ोसियों को लगी तो उन्होंने सूचना प्रीत के मायके वालों को दी। प्रीत के पिता ने वहां पहुंचकर कुछ रिश्तेदारों की मदद से अपनी पुत्री को बंद कमरे से आजाद करवाया। उसके बाद पीड़िता अपने पिता के साथ एस पी दरबार पहुंची तो एस पी ने इसकी जांच क्षेत्राधिकारी बीसलपुर को सौंपी। जाँच के बाद क्षेत्राधिकारी कमल सिंह ने बिलसंडा पुलिस को मुकदमा दर्ज करने का आदेश किया। जिसके बाद बिलसंडा पुलिस ने आरोपी पलविंदर सिंह, शीशा सिंह, बलविंदर कौर व गुरफतेह सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। रिपोर्ट- मनदीप सिंह बिलसंडा मैंने अपनी पुत्री की शादी के समय दहेज में फ्रिज, कूलर, टी वी, वाशिंग मशीन समेत करीब सात तोले सोना दिया था। उसके बाद भी मेरी पुत्री को लगातार परेशान किया जाता रहा। अभी 2 वर्ष पूर्व मेरे से मोटर साईकिल की मांग की गई तो मैंने बड़ी मुश्किल से रुपयों का जुगाड़ कर नई मोटरसाइकिल निकाल कर दी। उसके बाद मेरी पुत्री से चार पहिया वाहन व मेरी जायदाद अपने नाम करवाने का दबाव बनाने लगे। मेरी पुत्री ने जब मना किया तो उसके ससुराल वालों ने मारपीट कर उसे एक कमरे में बंद कर दिया था और जान से मारने की धमकी दी। मुझे उनके पड़ोसियों ने फ़ोन पर बताया तो मैंने कुछ रिश्तेदारों की मदद से अपनी पुत्री को उनके चंगुल से आजाद करवाया।

  Similar Posts

Share it
Top