मासूम बेटे के साथ ट्रेन के सामने कूदी महिला, पैर कटे

2018-05-07 23:45:43.0

बरेली के भोजीपुरा के लखमपुर अग्निकांड में अपने दो बच्चो और पति को गवा चुकी लक्ष्मी ने आज अपने बच्चे के साथ ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या का प्रयास किया। गनीमत रही की अग्निकांड में झुलसा बच्चा बाल-बाल बच गया लेकिन लक्ष्मी के दोनों पैर ट्रेन की चपेट में आने से कट गए।
जिला अस्पताल में जिन्दगी और मौत से लड़ती ये लक्ष्मी है जिसके ऊपर दुखो का पहाड़ टूट पड़ा है। लक्ष्मी के घर हुए अग्निकांड में वो अपने पति और दो मासूम बच्चो को गवा चुकी है। जबकि अग्निकांड में लक्ष्मी और उसका सबसे छोटा बीटा भी झुलस गया था। लक्ष्मी कम जली थी इसलिए वो बच गई लेकिन उसके ऊपर ही अपने पति और दो मासूम बच्चो की हत्या का आरोप लगा तो वो उसे बर्दाश्त न कर सकीं और उसने अपनी जीवनलीला समाप्त करने की ठान ली। लक्ष्मी रात में ही अपने झुलसे हुए बेटे को लेकर जिला अस्पताल से बिना किसी को कुछ बताये चली गई और सुबह वो कुदेसिया फाटक के पास ट्रेन के आगे कूद गई। पुलिस ने लक्ष्मी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया द्य वही पुलिस मामले की जाँच में जुट गई है।
एसपी देहात का कहना है की बच्चो और पति की मौत के बाद से वो काफी परेशान है और उसके ऊपर ससुर ने हत्या का आरोप भी लगाया है जिस वजह से वो बदनामी के डर के कारण मरना चाहती है।
गौरतलब है की भोजीपुरा के लखमपुर गांव मे शुक्रवार की रात लक्ष्मी के घर मे करीब बारह बजे शार्ट सर्किट से आग लग गई थी जिसमे जिसमे जलकर उसके पति राजू, 12 साल के नितिन और 8 साल की चांदनी की मौत हो गई थी। इस मामले मे प्रशासन ने परिवार को बारह लाख की आर्थिक सहायता दी है।

Monu Pandey

Monu Pandey

Our Contributor help bring you the latest article around you


  Similar Posts

Share it
Top