टिकट कटा तो छोड़दी बीजेपी

2017-01-31 16:01:05.0

टिकट कटा तो छोड़दी बीजेपी

पांच दशक तक पार्टी की सेवा करने के बाद अब करेंगे समाज के लिये काम

उरई-जालौन (राहुल गुप्ता) पांच दशक तक भारतीय जनता पार्टी में ईमानदारी से सेवा करने के बाद जब विधानसभा चुनाव में सेवानिवृत्त बैंक कर्मी माताप्रसाद वर्मा को विधानसभा क्षेत्र उरई-जालौन से टिकट नही ंतो उन्होंने आज अपने समर्थकों के साथ भारतीय जनता पार्टी को अलविदा कहते हुये निर्णय लिया कि अब वह कोरी समाज को एकजुट करने का अभियान चलायेंगे।
बैंक कालौनी राजेंद्र नगर स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से वार्ता करते हुये सेवानिवृत्त बैंक कर्मी व भाजपा नेता माताप्रसाद वर्मा ने कहा कि वह पिछले पांच दशक से पार्टी में रहकर ईमानदारी व लगने से कार्य करते रहे। विधानसभा चुनाव मं उरई-जालौन सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र से टिकट की दावेदारी की थी लेकिन पार्टी ने मुझे टिकट न देकर तीन विधानसभा चुनाव हारने के बाद भी चैथी बार गौरीशंकर वर्मा को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया। ऐसी स्थिति में अब उनके पास भाजपा में कार्य करना संभव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि मैंने निर्णय लिया है कि अब वह कोरी समाज को मजबूत करने के लिये कोरी चेतना समिति अराजनैतिक संगठन से जुड़कर समाज के हित में काम करेंगे। मीडिया से रूबरू होते हुये माताप्रसाद वर्मा भाजपा नेता ने कहा कि यदि पार्टी को गौरीशंकर वर्मा को ही पुनः प्रत्याशी बनाना था तो समाज के अन्य टिकट के दावेदारों का लाखों रुपये होर्डिंग व प्रचार-प्रसार में खर्च कराने की क्या जरूरत थी। वार्ता के दौरान समाज के जिलाध्यक्ष पन्नालाल वमा, प्रमोद वर्मा, छोटेलाल मास्टर, हरीसिंह वर्मा, डा. नरेश वर्मा, अच्छेलाल, तुलाराम वर्मा, बाबूलाल वर्मा, महेश वर्मा, रामसेवक वर्मा, ग्यासी वर्मा, बाबूलाल, सुखलाल, अरविंद, बबलू, सीताराम वर्मा एडवोकेट, हरनरायन वर्मा, गोविंद वर्मा, चंद्रशेखर, टेकचंद्र वर्मा, आरएन वर्मा, दिनेश वर्मा, पवन वर्मा, राकेश वर्ता सहित अनेकों कोरी समाज के लोग उपस्थित रहे।

भाजपा जिलाध्यक्ष ने इस्तीफा किया अस्वीकार
"उरई-जालौन सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी से टिकट मांग रहे माताप्रसाद वर्मा को जब टिकट नहीं मिला तो उन्होंने आज पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी। साथ ही अपने इस्तीफे की एक काॅपी भाजपा जिलाध्यक्ष उदयन पालीवाल को दी तो उन्होंने इस्तीफा पत्र पर लिख दिया किया माताप्रसाद वर्मा द्वारा दिया गया इस्तीफा अस्वीकार है।"

"एवीएन" की खबरों से अपडेट रहने के लिए "एवीएन" का मोबाइल एप्प इंस्टाल कीजिये- https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ally.avnn

  Similar Posts

Share it
Top