वन रक्षक निलंबित

2017-02-02 16:25:10.0

वन रक्षक निलंबित

उरई-जालौन (राहुल गुप्ता) वर्षों से जिले चल रहे अवैध लकड़ी कटान के कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए वन विभाग ने गंभीरता दिखाई है। चेकिंग अभियान के दौरान मोहल्ला बघौरा में एक लाख रुपए से अधिक कीमत की कीमती लकड़ी बरामद की गई है। हालांकि मौके से किसी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। इस मामले में अवैध लकड़ी कटान में वन रक्षक की भूमिका पर संदेह होने पर उसे निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही जिला वन अधिकारी ने जिले के सभी आरा मशीन संचालकों को चेतावनी जारी की है कि अगर उनके यहां अवैध लकड़ी पाई गई तो मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जाएगा। वहीं अवैध लकड़ी कटान की सूचना मिलने पर त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश भी अधीनस्थों को जारी किए गए हैं।
जिले में कई वर्षों से अवैध लकड़ी कटान का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। हर वर्ष जितने पौधे वन विभाग द्वारा लगाए जाते हैं उससे ज्यादा अवैध तरीके से कट जाते हैं। यही वजह है कि जिले में हरियाली लगातार कम होती जा रही है और पर्यावरण गड़बड़ा रहा है जिसका खामियाजा आम आदमी और किसानों को भुगतना पड़ रहा है। इसे लेकर अब जिला वन अधिकारी डीआर अहिरवार ने सख्ती दिखानी शुरू की है। उनके निर्देश पर चलाए गए चेकिंग अभियान में बड़ी सफलता विभाग को मिली। उरई के मोहल्ला बघौरा में करीब 2.60 घनमीटर शीशम व अन्य कीमती पेड़ों की लकड़ी विभाग को मिली जिसकी कीमत एक लाख रुपए से अधिक बताई जा रही हैै। इतनी बड़ी मात्रा में लकड़ी बरामद होने के बाद विभाग भी हरकत में आ गया। इस मामले में वन रक्षक लाखन लाल की कार्यशैली संदेह के घेरे में होने के कारण उसे तत्काल निलंबित कर दिया गया। वन दरोगा को मुकदमा दर्ज करने के भी निर्देश दिए। जिला वन अधिकारी ने एसडीओ कालपी को पत्र भेजकर निर्देश दिए हैं कि उनके क्षेत्र में जहां भी अवैध लकड़ी कटान की सूचना मिले, वहां तुरंत मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की जाए और हकीकत पाए जाने पर सख्त कार्रवाई करें। इसके साथ ही जिला वन अधिकारी ने जिले में पंजीकृत आरा मशीनों के संचालकों को भी चेतावनी जारी की है कि वह केवल वही लकडी काटें जो वैद्य तरीके से लाई गई हो अगर अवैध लकडी उनके आरा मशीन पर कटती हुई पाई गई तो संबंधित आरा मशीन संचालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के साथ ही जेल भेजने की कार्रवाई भी की जाएगी इसलिए कोई भी आरा मशीन संचालक अवैध लकड़ी काटते हुए न पाया जाए। इस बारे में जिला वन अधिकारी डीआर अहिरवार ने कहा कि जिले में कहीं भी अवैध तरीके से लकडी की कटान नहीं होने दी जाएगी। ऐसा करते हुए पाए जाने वाले व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिले में करीब तीन दर्जन से अधिक आरा मशीनें पंजीकृत हैं। इन मशीनों के संचालकों को चेतावनी भी जारी कर दी गई है। किसी भी सूरत में अवैध कटान नहीं होने दी जाएगी।

  Similar Posts

Share it
Top