झारखण्ड में वर्दी का आतंक, मुस्लिम युवक को घर से बाहर निकालकर भून दिया

2017-06-24 21:30:23.0

चतरा- झारखंड के चतरा में एक एक वर्दी वाले ने एक मुसलमान युवक को घर से निकालकर गोलियों से भून दिया। बवाल होने पर हत्यारे को गिरफ्तार किया गया है। इस घटना के बाद गांव के लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है। शुक्रवार की देर रात से लोग घरों से बाहर निकल गए और शव के साथ सड़क को जाम कर दिया है। यह घटना पिपरवार थाना के बेहरा गांव की है। इस मामले में पिपरवार थाना के एक जवान को गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही थाना प्रभारी को तत्काल निलंबित कर दिया गया है।

खबरों से लगातार अपडेट रहने के लिए एवीएन की एप्प इंस्टाल करिये

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ally.avnn

एफआईआर दर्ज करने के साथ आगे की कार्रवाई की जा रही है, पुलिस ने घटनास्थल से कारतूस के खोल भी बरामद किए हैं। पुलिस कमिश्नर का कहना है कि 'प्रारंभिक तफ्तीश और पूछताछ में पुलिस पर लगे आरोप गंभीर प्रतीत हो रहे हैं' उनके मुताबिक, इस मामले में स्पष्ट कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं, वरिष्ठ पुलिस अधिकारी घटना स्थल पर कैंप कर रहे हैं. इसके अलावा बड़ी तादाद में पुलिस बलों की तैनाती की गई है। उपायुक्त ने कहा, 'गांव के लोग गुस्से में हैं, लेकिन जांच में पूरा सहयोग भी कर रहे हैं और हालात नियंत्रण में है।

फिलहाल गांव वाले शव को पोस्टमार्टम के लिए उठाने नहीं दे रहे हैं, पुलिस और प्रशासन के अधिकारी उन्हें समझाने में जुटे हैं, मरने वाले युवक का नाम मोहम्मद सलमान उर्फ राजा है, उनके पिता अब्दुल जब्बार ने बताया कि राजा की उम्र 19 साल थी और वो कोयला खदान में मजदूरी करता था, शुक्रवार को ही उसे मजदूरी मिली थी। अब्दुल जब्बार ने बताया, "रात में वे अपने लिए नए कपड़े, बेल्ट, इत्र, जूते- चप्पल लेकर आया था. वो बहुत खुश था और घर के लोगों से पूछ रहा था कि ये कपड़े अच्छे तो हैं ना।ं"
उन्होंने रोते हुए बताया कि, "आखिरी जुमे के बाद सभी लोग ईद की तैयारियों में जुटे थे, लेकिन पुलिस ने घर से निकालकर उनके बेटे की छाती पर तीन गोलियां दाग दीं," वे लोग सलमान के गुनाह के बारे में पूछते रहे, लेकिन पुलिस ने कुछ बताया नहीं और घर से करीब 50 मीटर की दूरी तक घसीट कर ले गए। जब्बार ने कहा, "गोलियां चलने की आवाज सुनाई पड़ी, हम सभी लोग वहां पहुंचे तो देखा कि मेरा बेटा सलमान खून से लथपथ था।" गांव में रहने वाले मोहम्मद असलम ने कहा, "यकीन मानिए पुलिस ने दरिंदों की तरह इस घटना को अंजाम दिया. कोई मामला भी दर्ज नहीं है. गोली चलाने के बाद पुलिस जीप से भागने में सफल रही, दूसरी तरफ सुबह कोई जिम्मेदार अधिकारी कुछ भी बताने से बचते रहें"

क्या है पूरा मामला
जुमे की रात दस बजे पुलिस को सूचना मिली कि बेहरा में कोयला लदे ट्रक से लूटपाट हो रही है, बताया जा रहा है कि ट्रक का चालक प्रमोद यादव पर गोली चली, जिससे उसका हाथ जख्मी हो गया, अपराधियों ने उससे 5000 रुपये भी लूट लिये, जब पुलिस को यह सूचना मिली तो वह घटनास्थल के लिए रवाना हो गयी. लूट- पाट की घटना से 400 मीटर की दूरी पर बेहरा गांव है, जहां छानबीन करने पुलिस पहुंची।

खबरों से लगातार अपडेट रहने के लिए एवीएन की एप्प इंस्टाल करिये

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ally.avnn

इस बीच कुछ लोग भागने लगे, कातिल के बचाव में पुलिस की कहानी के मुताबिक एक पुलिसकर्मी के इंसास में गलती से ट्रिगर दब गया और गोली चल गयी, यह गोली सलमान उर्फ राजा को लगी, जिससे वह घायल हो गया. इलाज के लिए उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।
गढ़वा - मोबाइल को लेकर पति-पत्नी के बीच झगड़ा, चार घायल

पुलिस पूरी तरह शक के दायरे में
जब पुलिस की गोली से युवक घायल हुआ तो पुलिस वाले उसे अस्पताल क्यों नहीं ले गये ? उधर जब युवक को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, तो पुलिस अस्पताल क्यों नहीं पहुंची?

क्या कह रहे हैं परिजन
ग्रामीणों ने बताया कि पिपरवार थाना की गश्ती पुलिस में शामिल सिपाही प्रेम कुमार मिश्रा ने बहेरा गांव के मोहम्मद सलमान उर्फ राजा नामक युवक को घर से बाहर निकालकर सीधे गोली मारदी जिससे मौके पर ही युवक की मौत हो गयी। फिलहाल मामले को लेकर तनाव है. उधर अधिकारियों ने जांच के आश्वासान दिये हैं।

(साभार-सियासत)

  Similar Posts

Share it
Top