सरकार ने स्वीकार किया कि 2 साल में 252 किसानों ने की आत्महत्या

2017-03-06 12:25:29.0

सरकार ने स्वीकार किया कि 2 साल में 252 किसानों ने की आत्महत्या

अमरजीत भगत के सवाल पर मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय ने दिया लिखित जवाब
सबसे ज्यादा आत्महत्या सरगुजा में 3 दूसरे नम्बर पर कवर्धा है

रायपुर 6 मार्च 2017 (बृजनरायन साहू) किसानों की आत्महत्या मामले पर सरकार पर सवालों की बारिश होती रही है। लेकिन पहली दफा ऐसा मौका आया है जब सरकार न बड़ी संख्या में किसानों की आत्महत्या की बात को स्वीकार किया है। राजस्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय ने विधानसभा में इस बात को स्वीकार किया है कि 2 साल में छत्तीसगढ़ में 252 किसानों ने आत्महत्या की है। प्रदेश में सबसे ज्यादा 94 किसानों ने सरगुजा जिले में सुसाइड किया। वहीं मुख्यमंत्री के खुद के गृह जिले कबीरधाम में 45 किसानों ने आत्महत्या की है। बेमेतरा जिले में 33 किसानों ने आत्महत्या की है, तो राजनांदगांव में 17 किसानों ने मौत को चुना है। जांजगीर में 113, रायगढ़ में 203, कोरबा में 13, रायपुर में 83, बलौदाबाजार में 43, धमतरी में 33, महासमुंद में 43, दुर्ग में 13, बालोद में 93, कोरबा में 1 और बस्तर व कोंडागांव में 1-1 किसान ने आत्महत्या की है। वहीं गरियाबंद में 3, बिलासपुर 3, मुंगेली 3, सूरजपुर 3, बलरामपुर 3, कोरिया 3, जशपुर 3, नारायणपुर, कांकेर 3, दंतेवाड़ा 3, सजकम बीजापुर में एक भी अन्नदाता ने खुदकुशी नही की है।

  Similar Posts

Share it
Top