36000 करोड़ के नान घोटाले में शामिल लोगों के नाम विस पटल पर रखें-बघेल

2017-03-28 11:15:01.0

36000 करोड़ के नान घोटाले में शामिल लोगों के नाम विस पटल पर रखें-बघेल

रायपुर (बृजनरायन साहू) प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने राज्य सरकार का अब तक के सबसे बड़ा 36000 करोड रुपए के नान घोटाले में शामिल लोगों के नाम वाली डायरी जिसमें लेन-देन में लिप्त सरकार के प्रमुख लोगों के नाम दर्ज हैं उस डायरी को जिसे एक आईपीएस अधिकारी ने अपने पास रखा हुआ है विधानसभा के पटल पर रखे जाने की पुरजोर मांग करते हुए कहां है कि प्रदेश की जनता को यह जानने का पूरा हक है की जनता का चावल जनता का अनाज जिस पर केवल और केवल उनका अधिकार था उसमें आपने भारी कटौती कर उसके हिस्से के अनाज को लूटकर कुछ लोगों को बंदर बांट कर दिए और वह थोड़ा बहुत नहीं बल्कि 36 हजार करोड रुपए की राशि होती है जिसमें सरकार में शामिल बड़े-बड़े लोगों की संलिप्ता सिद्ध हो चुकी ह।नागपुर वाले बाबा से लेकर चाउर वाले बाबा के नाम आम लोगों के जुबान पर लिए जा रहे हैं ऐसे में जरूरी है कि वह संवेदनशील डायरी निश्चित रूप से सदन के पटल पर रखी ही जानी चाहिए ।जिस दिन घोटाले में शामिल लोगों की लिखी हुई डायरी पटल में रखी दी जाएगी 'गरीबो मजदूरों एवं जनता 'का पैसा डकारने वालों का वास्तविक चेहरा लोगों के सामने आ जाएगा। जो लोग यहां जिनका गुणगान करते फूले नहीं समा रहे हैं पोल खुलने के बाद उन्हें शिवाय पश्चाताप के और कुछ नहीं सूझेगा।

भूपेश बघेल ने विधानसभा में छत्तीसगढ़ सरकार के पीडीएस की पोल खोलते हुए कहा कि खाद सुरक्षा अधिनियम के एक्ट में जितना उल्लंघन हुआ है शायद ही ऐसा कोई विभाग होगा जिस में इतना उलंघन हुआ होगा। 2012 में बनाएं गये खाद्य सुरक्षा अधिनियम अभी तक इस सदन के पटल में ही नहीं रखे गए हैं जबकि हर सत्र में मैं इस बात का उल्लेख करता रहा हूं। कितने बार रूल्स बनाएं एवं बदले गए हैं संबंधित अधिकारियों को भी उसका पता नहीं है। पूरे हिंदुस्तान में आप अपने जिस पीडीएस की ढिंढोरा पीटते हुए नहीं थकते हैं उसकी हकीकत को हम सब भली भांति जानते हैं।यह वहीं पीडीएस है जहां 36000 करोड़ रूपये का घोटाला हुआ है। 72 लाख बने राशनकार्डो में से 13 लाख 54 हजार बोगस राशनकार्डो के राशन सरकार ने 5 साल तक लगातार फर्जी ढंग से बांटकर हर महीने 13 सौ रुपए प्रति राशन कार्ड के हिसाब से 13 लाख 54 हजार राशनकार्डो का धन सरकार के खजाने से लूटने का काम इस सरकार के मिलीभगत से किया गया है। किस ढंग से लूटा जा रहा था, लूटने वाले कौन थे छत्तीसगढ़ की जनता के सामने आज भी यह प्रश्न मुंह फाड़े खड़ा है।
खबरों से लगातार अपडेट रहने के लिए एवीएन की एप्प इंस्टाल करिये
- https://play.google.com/store/apps/details?id=com.ally.avnn

  Similar Posts

Share it
Top