दिहाड़ी के बदले हज़ारों रूपये की लकड़ी बांटता फारैस्ट

3 Jun 2019 6:03 PM GMT

योगी के फॉरेस्ट वाले किस तरह से सूबे के खजाने करोड़ों रूपये साल का चूना लगाते है, यह ना तो कदम कदम पर गुलामी टैक्स देने वाली गुलाम जनता से छुपा है ना ही अब तक की सरकारों और अफसरान से।

इससे एक बार फिर हम आपको रूबरू कराते हैं,आज फिर हम आपको लखीमपुर खीरी का ही नजारा करा रहे है, हालांकि फारेस्ट वालों की करतूत से गुजरे दिनो कई बार आपको रूबरू करा चुके है, लेकिन जिम्मेदार अफसरान से लेकर सीएम तक के कान तले जूं नहीं रेंगी, नतीजा आज भी जंगल की लकड़ी का चोरी से कटान जारी है, जंगलों के सफाये के चलते जंगली जानवर आबादी की तरफ बढ़ रहे हैं।

आपको बता दें कि एवीएन की टीम जैसे ही खीरी जिले के कुकरा थाना इलाके से गुजरी तो रास्ते में कुछ लोग हजारों रुपए की लकड़ी लेकर जा रहे थे, जब हमारी टीम ने उनसे पूछा तो सारा खेल सामने आ गया, साइकिल सवार ने हमारे संवाददाता को बताया कि जंगल में जितने भी लोग काम करते है जिसकी दिहाड़ी के बदले में उसे वन विभाग के अधिकारी लकड़ी काट कर दे देते हैं।

आइए आपको दिखा देते हैं कि किस तरीके से विभाग सरकार को लाखों का चूना लगा रहा है।

  Similar Posts

Share it
Top