स्वच्छता अभियान की असल तस्वीर

25 Jun 2019 7:00 PM GMT

स्वच्छता अभियान की असल तस्वीर देखने के लिए आईये यूपी के पीलीभीत जिले में

जहाँ सफाई अभियान के नाम गांव मुहल्लों की दीवारें और कुछ मुंह लगे अखबारों के पेजों को रंगकर करोड़ों रूपये तो ठिकाने लगाये जाने की होड़ मची है,

लेकिन जमीनी हकीकत क्या है यह हम आपको दिखा रहे हैं,

पीलीभीत में ज्यादातर सफाई नाम की चिड़िया कभी नहीं पहुंची,

जी हां हम बात कर रहे हैं बिलसंडा ब्लॉक के गांव बिलहरा की। गांव की हालत देखकर ऐसा मालूम हो रहा है कि सफाई कर्मचारी का गांव आना तो दूर की बात उसने कभी आने के बारे में सोचा भी न होगा।

गांव की गंदी नालियां व कूड़े के लगे ढेर ये बयां कर रहे हैं कि सदियों से गांव में सफाई नहीं हुई है।

सफाई न होने से गांव में बीमारियों का प्रकोप भी बढ़ रहा है।

लोग नरक जैसे हालातों में जिंदगी जीने को मजबूर हैं।

गांव के लोगों ने बताया कि सफाई कर्मचारी की मुख्यमंत्री पोर्टल पर कई बार शिकायत की गई है।

लेकिन अफसरान से सांठ गांठ के चलते उस पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है।

यहां तक कि शिकायत कर्ता को सफाई कर्मचारी ने धमकी देते हुए देख लेने की बात कही।

गांव के प्राईमरी स्कूल के शौचालय की हालत भी बहुत खस्ता है।

अधूरे पड़े ये दो शौचालय ये बता रहे हैं कि इनका पैसा निकालकर हड़प लिया गया।

  Similar Posts

Share it
Top