तालाब में तबदील स्कूल, खतरे में नौनिहाल

13 July 2019 7:45 PM GMT

पीलीभीत जिले के बिलसंडा ब्लॉक के गांव शहजादपुर का प्राइमरी स्कूल पूरी तरह तालाब बन चुका है, स्कूल का हाल देखने से ऐसा लग रहा है, कि मानो स्कूल कैम्पस को मछली पालन के काम शुरू कर दिया गया हो। बच्चों को पानी पीने या शौच जाने के लिए भी इसी तालाब के गन्दे पानी से होकर गुजरना पड़ता है। हैंड पंप भी पूरा पानी से घिरा हुआ है। बाहर लगा नल बेकार पड़ा है,

हमारी टीम सुबह सवा आठ बजे स्कूल पहुंची, तब वहां ना ही विद्यालय में बच्चे थे और न ही गुरूजन।

काफी इंतजार करने के बाद स्कूटी से मैडम जी आती दिखी। तब तक वक्त 9 बजकर 40 मिनट हो चुका था।

लेट आने का कारण पूछने पर कोई सन्तोषजनक जवाब नही दे सकीं।

पूछने पर पता चला कि हेड मास्टर छुट्टी पर हैं।

बच्चों से मिड डे मील के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि खाना तो रोज मिलता है, पर कभी भी दूध व मौसमी फल नहीं मिला।

जबकि मैन्यू में हफ्ते में एक दिन मौसमी फल व दूध देना बच्चों को अनिवार्य है।

रसोईघर का हाल देखा तो पता चला कि सिलेंडर की जगह चूल्हे से रसोइया भोजन बनाती हैं। सिलेंडर और बच्चों को फल और दूध का जो पैसा मिलता है वो मास्साब डकार जाते हैं।

  Similar Posts

Share it
Top