क्या पुलिस की शरण से चल रहा है पैट्रोल डीजल का गोरख गंधा

2018-01-28 13:45:28.0

बरेली के सुभाषनगर थाने से कुछ ही कदम् दूरी पर गैर कानूनी तरह से पट्रोल और डीजल बेचने का खेल चल रहा है। पुलिस बनी हुई अनजान, सुभाषनगर चैकी के इलाके मे तेल का खेल खुलेआम हो रहा है। सूत्रो की माने तो तेल कारोबारी की पुलिस से सेटिगं होने कारण कारोवारी के खिलाफ कोई कारवाई नही होती। जिसका सबूत भी सामने है देखिये खुद पुलिस भी गैर कानूनी तेल खरीदती है। तेल कारोवारी डायल 100 मे तेल डाल रहा है वही खोके मे गैस बेलडिगं की आड़ तेल का खेल जोरो सोरो चल रहा है। बाजार से बहुत कम दामो मे पैट्रोल व डीजल मिलता है अधिकतर पुलिस की सरकारी और निजि गाड़ियों में तेल यहीं से डलवाती है पुलिस को पचास रूपये पट्रोल व चलीस रूपये लीटर डीजल वही आम जनता को 55 रूपये पट्रोल व डीजल 45 रूपये दिया जाता है।
जिले मे यह इकलौता तेल का कारोबारी नही है गुजरे साल ही एसएसपी जोगिदंर सिहं ने भमोरा मे हो रहे तेल के गांरख धंधे का नजर अन्दाज करने पर भमोरा एसओ को सस्पेड़ कर दिया था। फिर भी धंधा बन्द नही हो सका।
यहां सबसे बड़ा सवाल यह पैदा होता है कि इन कारोबारियों को तेल मिलता कहां से है और किस दाम में मिलता है जिससे कि ये इतने कम दाम से बेचते है। जाहिर है कि इस धंधे में तेल डिपो पूरी तरह से शामिल है।

  Similar Posts

Share it
Top