योगी पुलिसिया के आतंक का शिकार बना एक और पत्रकार

2018-11-02 19:00:26.0

बेवजह चौकी ले जाकर थर्ड डिग्री टॉर्चर किया

धर्म विरोधी गालियां बकी

मामला जानने पहुंचे पत्रकार को दिये धक्के

दरोगा दिखा रहा है गुण्डई से सहमे अफसर

मामले मे मुंह खोलने की हिम्मत नही कर पा रहे है आला अफसरान

यूपी के नोयडा में योगी पुलिस के दो दरोगा और दो सिपाही खुली दबंगई पर है, मामला नोयडा के गांव सालारपुर के सैक्टर 39 का है, सालारपुर के रहने वाले मो० शाहिद बिल्डिंग मैटेरियल का कारोबार करते है और न्यूज चैनल के पत्रकार भी हैं।

गुज़रे दिन नोयडा की सालारपुर सैक्टर 39 की पुलिस चौकी से मुकेश नाम का सिपाही शाहिद सैफी के घर पहुंचा और गालियां बकते हुए शाहिद सैफी को खींचकर चौकी ले जाने लगा, जैसे ही शाहिद सैफी चोकी में पहुंचे वैसे ही चौकी इंचार्ज विनीत, दूसरा दरोगा राजपाल राणा, सिपाही मुकेश, अमित, देवेन्द्र उनपर टूट पड़े बुरी तरह से पीटा कमरे मे बन्द करके थर्ड डिग्री दी गयी, इस बीच शाहिद सैफी की पत्नी चौकी पहुंची तो चौकी इंचार्ज विनीत महिला को अशलील गालीयां बकने लगा, महिला से जमकर बदतमीजी की, साथ ही दरोगा विनीत ने पत्रकार शाहिद के सिर पर सर्विस रिवालवर सटाकर एंकाउन्टर की धमकी देते हुए शाहिद के धर्म के लिए अपशब्द का इस्तेमाल भी किया।

बताते चले कि पुलिस ने पत्रकार शाहिद सैफी पर आतंक बर्पाने के बाद कोर्ट मे पेश किया।

गौरतलब है कि पुलिस जिस शख्स की शिकायत का बहाना बना रही है उसे भी गायब कर रखा है ना ही उसको सामने लाया जा रहा है और ना ही उसकी कोई तहरीर पुलिस रिकार्ड मे दर्ज है।

मामले की खबर मिलने पर जब कुछ पत्रकारों ने चौकी पहुंचकर जानकारी लेनी चाही तो दरोगा ने पत्रकारों को भी धक्के देने शुरू कर दिये।

मामले की खबर पर बिजनोर के किरतपुर मे सीपीआईएम नेता कामरेड शमशाद हुसैन ने सख्त रूख अपनाते हुए साफ कर दिया कि अगर दो दिन के अन्दर पुलिस कर्मियो पर कार्यवाही नहीं हुई तो बड़े पैमाने पर आन्दोलन किया जायेगा।

यहां सबसे शर्मनाक पहलु यह हे कि कुकुर मुतो की तरह फैले पत्रकार संगठनो के कान तले इसलिए जूं नहीं क्योंकि पीडित मुस्लिम है।

उधर मामले मे आला अफसरान लगातार कन्नी काट रहे है, इससे ऐसा लगता है कि यह सब सत्ताई इशारे पर किया गया।

Ajmal Ansari

Ajmal Ansari

Our Contributor help bring you the latest article around you


  Similar Posts

Share it
Top