घोटालों का शिकार गांव "रसूलपुर गढ़िया"

5 Oct 2018 5:44 PM GMT

उत्तर प्रदेश का जिला शाहजहांपुर यहां के डीएम हैं अमृत त्रिपाठी, जो कि अपने सख्त रवैये वाले अफसर के नाम से जाने जाते हैं, इनकी मौजूदगी की भनक से ही अधिकारियों के पसीने छूटने शुरू हो जाते हैं।

लेकिन इस जिले में कई ग्राम प्रधानं भी ऐसे हैं जो जनता के पैसे को इस तरह डकार रहे हैं, मानों जैसे खीर बट रही हो इसी को लेकर एवीएन की टीम जा पहुंची बंडा ब्लॉक के गांव रसूलपुर में यहां का हाल देखते ही ऐसे लगा मानो यहां पर भ्रष्टाचार की बाढ़ सी आ गई हो।

गांव वाले हमें यहां के तालाब का सौंदर्यीकरण दिखाने ले गए लोगों का कहना है कि यह तालाब 2016 में बनाया गया है जिसमें टूटी कुर्सियां पड़ी है और घास जमी हुई थी, यहां के लोगों का कहना है कि इस तालाब के सौंदर्य करण में भी काफी घोटाला किया गया है, यहां पर ना तो प्रधान कभी देखने आया और ना ही यहां पर सफाई कर्मचारी काम करता है, तैनात सफाई कर्मचारी ने तो एक व्यक्ति मजदूरी पर रखा हुआ है वही गांव में थोड़ी बहुत साफ सफाई करता है बाकी तो नालियां ऐसे ही कीचड़ से भरी पड़ी रहती हैं, वहीं सड़कों पर भरा पानी भी विकास की पोल खोलता दिखाई दे रहा था।

लोगों का तो यह भी कहना है कि प्रधान के गुर्गे शौचालयों के नाम पर रुपए भी मांग रहे हैं।

प्रधान ने अपने ही खास लोगों को आवासों का वितरण कर दिया जब हमारी टीम ने गांव वालों से पूछा तो उन्होंने ग्राम प्रधान की सारी पोल ही खोल कर रख दी।

आइए दिखाते हैं आपको पूरी खबर एवीएन के जन समस्या कार्यक्रम के तहत संदीप शर्मा के साथ ..........

  Similar Posts

Share it
Top