पोल खुलती देखा दबंगई करने लगा मास्टर

4 July 2019 6:15 PM GMT

यूपी में योगीराज के आते ही स्कूलों के टीचर्स खुद जज बन चुके हैं और अपने कानून खुद बनाने शुरू कर दिए हैं

अगर उनके कानून को कोई नहीं मानता तो वह दबंगई करने पर उतारू हो जाते हैं

ऐसे ही कुछ गुरूओं की वजह से ही शिक्षा का स्तर गिरता जा रहा है क्योंकि जब पर 'पढ़ाने' वाला ही दबंग होगा तो बच्चे आगे क्या बनेंगे,

आज कल कुछ अध्यापक अपनी गुंडई दिखाना नही भूल रहे,

दरअसल मामला उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले की ब्लॉक बंडा का है,

यहां पर कुछ अध्यापक लोगों के साथ दबंगई से पेश आते हैं

इसका ताजा नमूना देखने को मिला बंडा ब्लाक के गांव इंदलपुर में,

यहां पर बने प्राईमरी और जूनियर स्कूल में जब एवीएन की टीम पहुंची तो, प्रिसिपल के पद पर तैनात अध्यापक मोहम्मद नदीम पोल खुलती देखकर उस वक्त दबंगई दिखाने लगा, जब स्कूल में पढ़ रहे पांचवी क्लास के कुछ बच्चों से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का नाम पूछ लिया तो पांचवी क्लास के बच्चे प्रदेश के मुख्यमंत्री का नाम ही नहीं बता सके,

इसी पर आदत से मजबूर प्रधानाध्यापक मोहम्मद नदीम बौखला गया, और संवाददाता से बीएसए लेटर की मांग करने लगा,

आप ने बखूबी देखा कि किस तरीके से यह प्रधानाचार्य अपनी दबंगई में बात कर रहा है जब हमारे संवाददाता ने उससे कुछ सवाल किए तो वह किसी भी हालत में बताने को राजी नहीं था जबकि हमारे संवाददाता ने कई बार प्रधानाध्यापक से स्टाफ के बारे में जानकारी मांगी लेकिन वह कुछ भी बताने को तैयार ना हुआ, अपने आप को सवालों के घेरे में फंसता देख दफ्तर में चलने की बात करने लगा अपने दफ्तर में उसने क्या क्या मजबूरी बताई यह भी आपको दिखाते हैं

देखा आपने कुछ ही समय में मास्टर साहब हमारे संवाददाता के सामने नतमस्तक हो गए और अपनी मजबूरियां बताने लगे सुनिए क्या है उनकी मजबूरियां

फिलहाल आपको बता दें कि अगर इसी तरीके से अध्यापक पत्रकारों के साथ पेश आएंगे तो जनता को क्या सही दिशा दिखाएंगे यह सरकार के लिए सोचने का विषय है,

अब देखना यह होगा कि इस पूरे मामले में शिक्षा विभाग के अफसरान क्या कार्रवाई करते हैं

  Similar Posts

Share it
Top