राजनैतिक दबाब में आवंटित कराया एसी कक्ष

2017-01-06 11:30:27.0

राजनैतिक दबाब में आवंटित कराया एसी कक्ष

मरीजों को न देखकर राजनीति चमकाने में जुटा सपा नेता

सदर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का देख रहे सपना
उरई-जालौन (राहुल गुप्ता) जिला अस्पताल में सीएमएस के पद से सेवानिवृत्त हुये डा. बीवी आर्या को जनपद से ऐसा मोह हुआ कि उन्होंने सेवानिवृत्त के बाद राजनैतिक जोड़तोड़ कर जिला अस्पताल में ही संविदा चिकित्सक बन गया। चूंकि सेवानिवृत्त सीएमएस ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर जिला अस्पताल में अपने लिये एक एसी रूम भी बैठने के लिये आवंटित जहां पर वह कभी कभार आकर छुटभइया नेताओं के साथ अपनी राजनीति चमकाने की मंत्रणा करते देखे जाते हैं। डा. आर्या के कुछ नजदीकी लोगों का कहना है कि वह उरई सदर विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ने की तैयारी में है। यही कारण है कि उन्होंने सेवानिवृत्त होने के बाद भी जनपद में ही डेरा जमाये रखा।
उल्लेखनीय हो कि जिला अस्पताल में सीएमएस रहते डा. आर्या समाजवादी पार्टी के एक गुट के नेताओं से मेलजोड़ बनाने के बाद जैसे ही उन्होंने सपा नेताओं को उरई सदर विधानसभा क्षेत्र से विधायकी का चुनाव लड़ने की बात बतायी तो एक गुट के नेता ने उन्हें सपा से ही टिकट दिलाने का आश्वासन दे दिया था। इसके कुछ दिनों बाद जैसे ही सीएमएस डा. बीवी आर्या सेवानिवृत्त हुये तो उन्होंने राजनैतिक जोड़तोड़ कर जिला अस्पताल में ही संविदा चिकित्सक के रूप में तैनाती करा ली। इतना ही नहीं सपा नेता बने डा. बीवी आर्या ने अपने लिये जिला अस्पताल में बैठने के लिये एसी कक्ष का आवंटन भी करवा लिया जहां पर वह कभी अपनी गाड़ी नंबर यूपी 93 एयू 1975 में कुछ छुटभइया नेताओं के साथ पहुंचते हैं और राजनीति का गुणा भाग लगाते देखे जाते हैं। वह अपनी गाड़ी के पीछे वाले शीशे पर मोटे-मोटे अक्षरों में उत्तर प्रदेश लक्ष्य 2017 डा. बीवी आर्या पूर्व सीएमएस गुप्त एवं कुष्ठ रोग विशेषज्ञ लिखा बड़ा सा पोस्टर चस्पा किये हुये हैं। इस संबंध में स्थानीय लोगों से बात की गयी तो उनका कहना था कि पूर्व सीएमएस डा. बीवी आर्या ने सेवानिवृत्त के बाद सपा नेता का चोला ओढ़कर जिला चिकित्सालय में संविदा चिकित्सक के पद पर तैनाती करा ली ताकि वह जनपद में अपनी राजनीति चमकाते रहे और खर्चे के लिये मोटी तनख्वाह भी उन्हें मिलती रहे। फिलहाल तो पूर्व सीएमएस एवं संविदा चिकित्सक डा. बीवी आर्या को जब से चुनाव लड़ने का रोग लगा है
वह ला चिकित्सक में यदाकदा ही बैठते हैं और ज्यादातर समय वह एक गुट के सपा नेताओं के आवास पर दस्तक देकर दंडवत रहते देखे जा रहे हैं।

  Similar Posts

Share it
Top