उपभोक्ता बोले कैसे मिलेगा उन्हें खाद्यान्न व कैरोसिन

2017-01-06 11:45:49.0

उपभोक्ता बोले कैसे मिलेगा उन्हें खाद्यान्न व कैरोसिन

कोटेदार बहाना बनाकर खाद्यान्न को कर सकते हजम
उरई-जालौन (राहुल गुप्ता) चुनाव आयोग द्वारा प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों की तिथियिां घोषित कर दी हैं। चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ ही प्रदेश में आदर्श चुनाव आचार संहिता प्रभावी हो गयी है। आचार संहिता के प्रभावी होते ही आयोग प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की फोटोयुक्त बांटे जा रहे नये राशन कार्डों के वितरण पर भी रोक लगा दी है। नये राशनकार्ड के वितरण पर रोक लगाने तथा पुराने राशनकार्डों के निष्प्रभावी होने के कारण लोगों को खाद्यान्न मिलने में दिक्कतों का होना शुरू हो गया है।
खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा नवंबर माह से नये राशनकार्डों का वितरण कराया जा रहा है। विभाग द्वारा वितरित कराये जा रहे राशनकार्डों की प्रतियां पर्याप्त संख्या में प्रिंट न होने के कारण अभी तक सभी उपभोक्ताओं को राशनकार्डों का वितरण नहीं हो पाया है। नये राशनकार्डांे में मुख्यमंत्री की फोटो होने के कारण चुनाव आयोग ने इनके वितरण पर रोक लगा दी है। चुनाव आयोग के इस कदम से राशनकार्ड धारकों को मिट्टी का तेल व खाद्यान्न प्राप्त करने में परेशानी होने लगी है। वहीं कोटेदारों को वितरण में परेशानी होने लगी है। खाद्य एवं रसद विभाग के नियमानुसार राशन सामग्री वितरण व प्राप्त करने दोनों में राशन कार्ड की आवश्यकता होती है। राशनकार्ड न होने के कारण कोटेदार व उपभोक्ता दोनों परेशान है। उपभोक्ता कौशल किशोर श्रीवास्तव कहते हैं कि कोटेदार कहता है कि जब तक राशनकार्ड नहीं होगा तब तक वह खाद्यान्न व मिट्टी का तेल नहीं देगा। जब राशनकार्ड में वह चढ़ा नहीं देगा तब तक वह कुछ भी नहीं देगा। पवन याज्ञिक कहते हैं कि पहले इंटरनेट की कापी से ही खाद्यान्न मिल जाता था जब से राशनकार्ड बंटने लगे अब इंटरनेट की कापी पर भी खाद्यान्न नहीं मिल पा रहा है। कपिल सोनी कहते हैं कि इंटरनेट की लिस्ट में हो रहे आये दिन परिवर्तन तथा नये राशन न होने के कारण उन्हें पिछले माह से ही खाद्यान्न व मिट्टी का तेल नहीं मिल रहा है। एक और उपभोक्ता गौरव तिवारी कहते हैं कि पहले ही कोटेदार राशनकार्ड न होने से खाद्यान्न देने में परेशान करते थे अब जनवरी, फरवरी तथा 11 मार्च तक नये राशनकार्ड न मिलने से परेशानी बढ़ गयी है तथा खाद्यान्न व मिट्टी का तेल लेने में कोटेदार की मनमर्जी चलेगी।

  Similar Posts

Share it
Top