शोर शराबे के बीच राज्यपाल का अभिभाषण

2017-02-26 11:30:46.0

शोर शराबे के बीच राज्यपाल का अभिभाषण

रायपुर - (बृजनरायन साहू) छत्तीसगढ़ विधानसभा में बजट सत्र की शुरुआत हंगामेदार रही। विपक्ष के टोकाटोकी और शोर शराबे के बीच राज्यपाल को अभिभाषण महज 10 मिनट में खत्म करना पड़ गया। राज्यपाल ने अभिभाषण में इस बात का जिक्र किया कि छत्तीसगढ़ में डिस्ट्रिक्ट मिनरल फण्ड से गौरव बढ़ा है३.छत्तीसगढ़ में हुए विकास कार्य की सराहना हुई है३.प्रधानमंत्री ने भी इसकी तारीफ की है। इसे सुनते ही सत्यनारायाण शर्मा अपने सीट से उठ खड़े हुए और कहा कि प्रधानमंत्री कभी गरीब किसानों की बात करते। राज्यपाल ने कहा- बहस के लिए एक महीना मिलने वाला है३.आप अच्छे ढंग से अपनी बात कह सकते है३। जिसके बाद भूपेश बघेल ने कहा- अभिभाषण की शुरुआत ही होती है कि मेरी सरकार ने३.लेकिन आपने सीधे लोकसभा की कार्यवाही से अपने भाषण की शुरुआत की। इधर अमित जोगी ने अभिभाषण के दौरान कहा- सरकार शराब बेचने पर आमादा हो गई और इसका अभिभाषण में जिक्र तक नहीं किया गया है। वहीं धनेन्द्र साहू ने कहा- किसानों के बारे में भी कोई जिक्र नहीं है। विपक्ष की टोका टाकी के बीच राज्यपाल का अभिभाषण जारी रहा। राज्यपाल ने कहा कि बस्तर में सुरक्षा बलों के जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि उद्यमिता ने राज्य को नई पहचान दी है३। इधर अभिभाषण के दौरान टोकाटोकी करते हुए भूपेश बघेल ने कहा- अभिभाषण प्रधानमंत्री का स्तुतिगान हो गया। राज्यपाल ने अपना अभिभाषण 11 बजकर 8 मिनट पर शुरू किया और उनका अभिभाषण 11 बजकर 18 मिनट पर खत्म हो गया।

  Similar Posts

Share it
Top