इन्हें कौन सा हैल्मेट पहनायेंगे गडकरी साहब

21 July 2019 11:45 PM GMT

काश दोपहिया वाले भी आटो टैम्पो, डग्गामार जीपों मैजिक वालों की तरह ही पुलिस के नियमित सेवा दाता होते

दरअसल देश की गुलाम जनता जिसको भी वोट देकर कमाई करने का मौका दिया जवाब में उसने गुलाम जनता से उगाही के नये नये तरीके अपनाये,

कांग्रेस को नोचने खोंचने का मौका दिया तो कांग्रेस की मनमोहन सिंह सरकार ने कदम कदम पर गुलामी टैक्स वसूली के अडडे बनवा दिये, कांग्रेस की इस वसूली में अखिलेश यादव ने भी भरपूर साथ दिया,

इसके बाद बीजेपी को मौका दिया तो मोदी सरकार ने बचे रास्तों पर भी गुलामी टैक्स वसूली चालू करादी,

देश की भोली भाली गुलाम जनता ने दोबारा मोदी को मौका दिया तो इस एहसान के बदले में मोदी योगी सरकार ने चहीतो की फैक्ट्रियों मे बनने वाले घटिया हैल्मेट की बम्पर बिक्री कराने का बीड़ा उठा लिया,

लोकसभा चुनाव के फौरन बाद ही मोदी योगी सरकार अपने चहीतों की फैक्ट्रियों के हैल्मेट की बम्पर बिक्री कराने की कवायद के तहत कदम कदम पर दोपहिया वाहनों का घेराव कराकर वसूली शुरू करादी,

सरकार और पुलिस कह तो यह रही है कि दोपहिया वाहन चालको की जान बचाने के लिये यह सब किया जा रहा है,

बहुत अच्छी बात है, अच्छा कदम है,

लेकिन सबसे बड़ा और अहम सवाल यह है कि सिर्फ दोपहिया वालों की ही जान की परवाह क्यों है,

टैम्पो, ऑटो, जीपों, मैजिक वाले जिन 6-6, 7-7, लोगों को लटकाकर हवा मे उड़ते रहते है, उनकी जानों की परवाह क्यों नहीं,

तस्वीरों मे आप देख ही रहे हैं कि ये जो लोग टैम्पुओं जीपो पर पीछे लटके है उनकी जानों को लावारिस क्यों छोडा जा रहा है,

इन्हे भी कोई हैल्मेट पहनाईये,

इनके लिए कोई हैल्मेट नहीं है,

शायद सरकार के चहीतों की फैक्ट्रियों में इनके लिए हैल्मेट नहीं बना,

या फिर सारा झमेला वसूली और हैल्मेट की बम्पर सेल कराने के लिये ही है,

ये देखिये आज यानी शुक्रवार को बरेली मिनी बाईपास तिराहे पर जबरदस्त चैकिंग की जा रही थी, भारी फोर्स लगा था दोपहिया वालों की घेरा घारी में, लेकिन ये टैम्पो बिना किसी रोकटोक के सामने से गुजरते रहे

  Similar Posts

Share it
Top