UP ELECTION 2022

जिसे कोर्ट ने भगोड़ा कहा उसे बीजेपी ने टिकट दिया

9 साल पहले कोर्ट भगोड़ा कहा तो बीजेपी ने दिया टिकट। कोर्ट ने DM की नकेल कसी कुर्की न करने पर DM अमेठी पर दिल्ली की पटियाला कोर्ट सख्त पूर्व विधायक व गौरीगंज से बीजेपी प्रत्याशी चंद्र प्रकाश मिश्र मटियारी की नामांकन से पहले ही मुश्किलें बढ़ती नज़र आ रही हैं, दिल्ली की एक कोर्ट ने 9 साल पहले के मामले में मटियारी के ख़िलाफ़ कुर्की की कार्रवाई के लिए डीएम अमेठी को सख्त निर्देश दिए हैं। दिल्ली की कोर्ट ने 9 साल पहले के मामले में चंद्र प्रकाश मिश्र मटियारी के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई के आदेश दिये हैं। कोर्ट ने 4 अप्रैल तक कार्रवाई कर सूचित करने और कार्रवाई नहीं करने पर डीएम को तलब होने का आदेश दिया है। अमेठी सांसद स्मृति ईरानी के चहेते पूर्व विधायक चंद्र प्रकाश मिश्र मटियारी से जुड़ा मामला उछल आया है। करीब 9 साल पहले दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने मटियारी को एक मामले में भगोड़ा घोषित कर रखा है। साथ ही कोर्ट ने अमेठी के डीएम को इस मामले में कुर्की का आदेश दिया था, जिसे नहीं करने पर अब कोर्ट ने सख्त रुख अपनाया है। कोर्ट ने 4 अप्रैल तक कार्रवाई कर सूचित करने और कार्रवाई नहीं करने पर डीएम को तलब होने का आदेश दिया है। जानकारी के मुताबिक, दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में अमेठी के गौरीगंज से विधायक रहे चंद्र प्रकाश मिश्र मटियारी के विरुद्ध दिल्ली की महार्षि रेनेवबली इनर्जी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी की ओर से चेक बाउंस के चार मामले विचाराधीन हैं। इस केस में कोर्ट ने 5 दिसंबर 2013 को पूर्व विधायक को भगोड़ा घोषित किया था। साथ ही कोर्ट ने पुलिस को अरेस्टिंग के निर्देश दिए थे, लेकिन पुलिस ने कोर्ट में कोई रिपोर्ट ही फाइल नहीं की। बीते साल कुर्की की कार्रवाई के लिए डीएम अमेठी को कोर्ट ने दिया था आदेश दिया था लेकिन सरकारी की जी हुज़ूरी के चलते कुर्की नहीं की गई। इसके बाद कोर्ट ने साल 2021 में मामले में कड़ा रुख अपनाया। कोर्ट ने अमेठी के डीएम को 19 मार्च 2021 को आदेश दिया कि वो इस मामले में कुर्की की कार्रवाई कर रिपोर्ट पेश करें। लेकिन जब इस बार भी सरकारी दबाव में अफ़सरों ने मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया तो बीती 24 जनवरी को दिल्ली पटियाला हाउस में जज उद्धव कुमार जैन ने डीएम अमेठी को सख्त निर्देश दिए कि 4 अप्रैल तक कार्रवाई करके कोर्ट को अवगत कराएं, अन्यथा स्वयं कोर्ट में हाजिर हों। मामले में जब अमेठी के डीएम राकेश कुमार मिश्रा से जानकारी के लिए संपर्क किया गया तो उनके कार्यालय से जवाब मिला कि डीएम साहब मीटिंग में हैं, बात नहीं हो सकती। वहीं जब पूर्व विधायक चंद्र प्रकाश मिश्र मटियारी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि आप लोग मेरा संरक्षण कीजिए। बता दें कि पूर्व विधायक ने मार्च 2019 में बीजेपी जॉइन की थी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के चुनाव में जमकर मदद की थी। इसका अब विधानसभा चुनाव में इनाम मिला है। बीजेपी ने उसे गौरीगंज सीट से प्रत्याशी बनाया है।