Trending News

जागो गुलामों जागो - खादी के लिए खाकी ने लील ली बूढ़े की ज़िन्दगी

जागो ग़ुलामों जागो। कब तक ग़ुलामी में जियोगे। अभी भी वक्त है तोड़ दो ग़ुलामी की ज़ंजीरें। 77 साल बीत गये आज़ादी का झूठा भ्रम पाले हुए। देखो इस तस्वीर को ये तस्वीर है यूपी के सहारनपुर की। सहारनपुर की सड़कों पर मोदी की मौजूदगी की वजह से ग़ुलामों के ग़ुज़रने पर पाबनदी लगी थी। एम्बूलैंस में बूढ़ा बीमार तड़पता रहा बीमार की बेटी ख़ाकी के सामने गिड़ गिड़ाती रही लेकिन खादी की मकखन मालिश में मस्त खाकी नहीं पसीजी और बूढ़े ने एम्बूलैंस में ही दम तोड़ दिया।