UP ELECTION 2022

चुनाव क़रीब आते ही अखिलेशवादियों को मौजूदा सरकार अत्याचारी लगने लगी

News-image

अखिलेश वादियों को पांच साल बाद पता चला कि मौजूदा सरकार अत्याचारी है। महाराष्ट्र के फ़ारूख़ कुरैशी और आज़म खां समेत सैकड़ों मामलों में कोमा में रहने वाली पार्टी की एक महिला ने आज बरेली पहुंची। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान वर्ल्ड फैमस नेता असद उददीन ओवेसी के नाम एक सवाल के जवाब में अखिलेश वादी महिला ने कहा कि वह ना उनको जानती हैं ना उनकी नीतियों को। पांच साल के योगी राज के दौरान आज़म खां समेत हज़ारों मुसलमान दलित योगी के जुल्म के शिकार हुये और आजतक हो रहे हैं। आम मुसलमानों को छोड़िये। पार्टी ने तो समाजवादी पार्टी को सत्ता तक पहुंचाने वाले आज़म खां का भी साथ नहीं दिया। खैर फिलहाल यूपी विधान सभा चुनाव का बिगुल बजते ही पांच साल बाद पार्टी को कमज़ोरों ग़रीबों की चिन्ता सताने लगी। इसी चिन्ता के चलते जूही सिंह बरेली पहुंची। तय शुदा प्रोग्राम के तहत अखिलेश वादियों ने जूही सिंह नामक महिला का स्वागत किया। चौकांने वाली बात ये है कि सरकार में कुर्सी तलाश रही इन मोहतरमा ने मुस्लिम नेताओं के लिए अपनी सोच को ही उगल दिया। मुस्लिमों की बाबत एक सवाल के जवाब सीधे देने की बजाये मैडम ने बात को घुमा दिया। मतलब साफ़ है कि मुसलमान का सिर्फ़ वोट चाहिये मुसलमानों को हिस्सेदारी के नाम पर बगले झांकने लगती है पार्टी।